1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

नेहरू के बहाने कांग्रेस बीजेपी की तू तू मैं मैं

कांग्रेस ने जवाहर लाल नेहरू के जन्मदिन को बाल दिवस के रूप में मनाने पर छींटाकशी करने के लिए गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी पर पलटवार किया है. कांग्रेस ने कहा मोदी हताशा में कांग्रेस नेताओं पर बयानबाज़ी कर रहे हैं.

default

मोदी ने भड़काया नया विवाद

मोदी के बयान पर पूछे गए सवाल पर कांग्रेस के प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा, "मोदी असुरक्षित महसूस करते हैं. उनमें असुरक्षा भरी हुई है. उन्हें नेहरू, गांधी और कांग्रेस जैसे नामों से असुरक्षा महसूस होती है. इसीलिए वह ऐसी ओछी राजनीति में फंसते जा रहे हैं."

शनिवार को बीजेपी शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों के सम्मेलन में मोदी ने कहा, "बताते हैं कि जवाहर लाल नेहरू को बच्चों से बहुत लगाव था और उनका जन्मदिन बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है. बच्चे उन्हें चाचा नेहरू भी कहते हैं. इससे हमारे दिमाग में नेहरू की

Jawaharlal Nehru, indischer Premierminister 1961, Kalenderblatt

नेहरू के जन्मदिन पर बवाल

ऐसी छवि सामने आती है जो हितैषी है. लेकिन इससे बच्चों का क्या भला हुआ है. अब लाल बहादुर शास्त्री की बात करते हैं. उन्होंने जय जवान, जय किसान का नारा दिया जिसने जवान और किसानों में ऊर्जा भर दी. शास्त्री जी नेहरू की तरह करिश्माई नेता नहीं थे, फिर भी उनके कार्यकाल में भारत में रिकॉर्ड अनाज उत्पादन हुआ."

सिंघवी ने कहा कि यह कांग्रेस पार्टी ही है जिसने देश को गांधी, नेहरू और शास्त्री दिए हैं. 2002 के गुजरात दंगों की तरफ इशारा करते हुए कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा, "मोदी को अपनी गतिविधियों के सिवाय और किसी चीज में भलाई नहीं दिखाई देती. उन्हें देश को बताना चाहिए कि गुजरात के बच्चों का उन्होंने कितना भला किया है. उनकी सोच से उपजी हिंसा के चलते बहुत से बच्चे अब भी अनाथ हैं."

उधर वरिष्ठ कांग्रेस नेता मोहन प्रकाश ने कहा, "बच्चों से नेहरू जी का खास रिश्ता था. इसीलिए उन्हें चाचा कहा जाता है. इसके उलट बीजेपी और खास कर नरेंद्र मोदी का रिश्ता लोगों के साथ भय का है. मोदी के पास अपने बारे में कुछ कहने के लिए है नहीं, तो वह ऐसे महान लोगों के खिलाफ बयान दे कर सुर्खियों में रहने की कोशिश करते हैं जिनका देश की जनता सम्मान करती है." उन्होंने कहा कि नेहरू ने देश की आजादी के संघर्ष और स्वतंत्रता के बाद राष्ट्र निर्माण में अहम भूमिका निभाई. "संघ का न तो स्वतंत्रता के संघर्ष में और न ही राष्ट्र निर्माण में कोई योगदान रहा है. इसलिए वे लोग इस तरह की बातें करते हैं."

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः एन रंजन

संबंधित सामग्री