1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

"नेहरू की बदौलत भारत आईटी ताकत बना"

भारत में सूचना तकनीक क्रांति का पूरा श्रेय यूं तो पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को दिया जाता है लेकिन श्रीलंका के एक मंत्री का कहना है कि इसकी असल बुनियाद तो भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू ने रखी.

default

जवाहर लाल नेहरू

श्रीलंका के तकनीकी और अनुसंधान मंत्री प्रोफेसर तिस्सा विथाराना ने कहा, "आज भारत आईटी और इलेक्ट्रोनिक के क्षेत्र में बड़ी ताकत है. यह सब जवाहर लाल नेहरू की बदौलत है जिन्होंने सेवा और तकनीकी क्षेत्र को विकसित करने के लिए काफी कोशिशें कीं." श्रीलंकाई मंत्री ने कहा कि ब्रिटेन से आजादी मिलने तुरंत बाद नेहरू ने विज्ञान और तकनीक मंत्रालय का कार्यभार संभाला और इसे मुमकिन बनाया. दक्षिणी श्रीलंका में एक विज्ञान और तकनीकी प्रदर्शनी के उद्घाटन पर विथाराना ने यह बात कही.

उन्होंने कहा, "श्रीलंका को आजादी मिले 60 साल हो गए हैं. हमें भी यह सोचना चाहिए कि क्या हमने विज्ञान और तकनीक की प्रगति के लिए पर्याप्त कदम उठाए हैं."

उन्होंने भारत को आईटी और कंप्यूटर सॉफ्टवेयर के मामले में अग्रणी देश बताया. श्रीलंका के डेली न्यूज ने विथाराना के हवाले से लिखा है कि अंतरराष्ट्रीय ट्रेडिंग और आर्थिक गतिविधियों के लिए कंप्यूटर सेवाएं मुहैया करा कर भारत ने काफी विदेशी धन कमाया है. श्रीलंका में कंप्यूटर साक्षरता सिर्फ 30 प्रतिशत है. विथाराना इसे बढ़ाकर 50 प्रतिशत करना चाहते हैं.

श्रीलंकाई मंत्री ने इस मौके पर विदाथा कार्यक्रम का भी जिक्र किया जिसके तहत गांवों तक तकनीकी सुविधाएं मुहैया कराई जा रही हैं. इसके जरिए मझले स्तर के 10 हजार उद्योगपति तैयार किए गए हैं जो देश के आर्थिक विकास की प्रक्रिया को मजबूत बना रहे हैं. विथाराना उस सर्वदलीय प्रतिनिधि कमेटी के भी प्रमुख है जो पूर्व एलटीटीई के कब्जे में रहे उत्तरी इलाके के विकास के उपाय तलाश रही है.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः वी कुमार

DW.COM

WWW-Links