1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

नेपाल-माओवादियों की अनिश्चितकालीन हड़ताल

रविवार को माओवादियों ने अनिश्चितकालीन आम हड़ताल शुरू की है. माओवादियों की मांग है कि प्रधानमंत्री माधव कुमार इस्तीफ़ा दें और अगली सरकार माओवादियों के नेतृत्व में बनाई जाए.

default

नेपाली प्रधानमंत्री माधव कुमार ने माओवादियों की मांग मानने से और इस्तीफा देने से इनकार किया है.

इसके जवाब में माओवादियों ने पूरे देश में अनिश्चितकालीन हड़ताल बुलाई है. इस कारण रविवार को कई राज्यों में मुख्य बाज़ार, दुकानें और यातायात बंद करवाया गया और यातायात रोका गया.

माओवादियों के समर्थक ओनासारी घर्तीमगर ने कहा,"हमारा प्रदर्शन तब तक जारी रहेगा जब तक सरकार इस्तीफा नहीं दे देती और हमारी पार्टी के नेतृत्व वाली सरकार सत्ता में नहीं आती. हम हमारी तरफ से पूरी कोशिश करेंगे कि प्रदर्शन शांतिपूर्ण बने रहें."

उधर पुलिस ने भी कहा है, "कुल मिला कर प्रदर्शन शांतिपूर्ण रहे हैं. काठमांडू पुलिस प्रमुख रमेश खरेल ने बताया, काठमांडू में कहीं से भी हिंसा की ख़बरें नहीं हैं और स्थिति ख़राब न हो ये हम सुनिश्चित कर रहे हैं."

माओवादियों ने हर दिन दो घंटे दुकाने खुली रखने की छूट दी है. घर्तीमगर ने जानकारी दी,"हमने हड़ताल में दो घंटे ढील रखने की घोषणा की है ताकि लोगों को परेशानी नहीं हो."

शनिवार को करीब डेढ़ लाख माओवादियों ने राजधानी काठमांडू में रैली निकाली थी और मांग की कि प्रधानमंत्री इस्तीफ़ा दें. जिसे प्रधानमंत्री ने सरकारी रेडियो और टीवी संदेश में ठुकरा दिया. शनिवार को प्रचंड ने भाषण में कहा कि हमारे लिए ये प्रदर्शन करना इच्छा बल्कि मजबूरी है.

2009 में सैन्य प्रमुख को नहीं हटाने के मामले पर प्रचंड के राष्ट्रपति से मतभेद हुए और उन्होंने इस्तीफ़ा दे दिया. वर्तमान संसद में भी माओवादियों की सबसे ज़्यादा सीटें हैं.

रिपोर्टः एजेंसियां/आभा मोंढे

संपादनः एम गोपालकृष्णन

DW.COM

संबंधित सामग्री