1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

नीतीश तीन चौथाई बहुमत की ओर

बिहार में गिनती जारी है. सभी 243 सीटों के रुझान और नतीजे आ रहे हैं. 198 पर जेडीयू-बीजेपी गठबंधन आगे चल रहा है. आरजेडी-एलजेपी 32 सीटों पर और कांग्रेस सिर्फ 6 सीटों पर आगे है. वामपंथी और अन्य की 7 सीटों पर बढ़त.

default

बड़ी जीत की ओर नीतीश

अब तक मिले नतीजों के मुताबिक जेडीयू-बीजेपी ने 29 सीटें जीत ली हैं. वहीं विपक्षी आरजेडी-एलजेपी गठबंधन को चार सीटें मिली है. पिछले चुनाव में 9 सीटें जीतने वाली कांग्रेस को अभी तक दो सीटें मिली हैं. वहीं लेफ्ट और अन्य पार्टियों के हिस्से अब तक दो सीटें आई हैं.

रुझान बता रहे हैं कि जेडीय-बीजेपी गठबंधन स्पष्ट बहुमत के साथ इस चुनाव को जीतने जा रहा है और नीतीश कुमार दोबारा बिहार के मुख्यमंत्री पद की कुर्सी पर बैठेंगे. बिहार में जीत पर बीजेपी अध्यक्ष नितिन गडकरी ने कहा, "बिहार चुनाव 21वीं सदी की राजनीति की दिशा तय करेगा. अब विकास की राजनीति होगी जात की राजनीति नहीं होगी."

कांग्रेस के लिए इन चुनावों में बड़ा झटका है. अक्टूबर 2005 के चुनाव में उसे 9 सीटें मिली थीं लेकिन अब वह भारी नुकसान में है. पार्टी ने चुनाव के दौरान पूरी ताकत झोंक दी थी. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, महासचिव राहुल गांधी समेत कई बड़े नेताओं ने राज्य का दौरा किया. बिहार चुनाव के नतीजों पर निराशा जाहिर करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा, "हमें बिल्कुल नए सिरे से शुरुआत करनी होगी."

क्या बिहार में राहुल गांधी का करिश्मा नहीं चला, कांग्रेस के नेता संजय निरुपम कहते हैं, "चुनाव में हार जीत लगी रहती है. इसका यह मतलब नहीं कि नेतृत्व पर सवाल उठाया जाए. हमने बिहार चुनाव से सबक लिया है. जनता को नीतीश सरकार का काम पसंद आया है. हम भी बिहार में अपने काम करने के तरीके को निश्चित पर बेहतर करने की कोशिश करेंगे."

243 सीटों वाली विधानसभा में पिछली बार बीजेपी-जेडीयू गठबंधन के पास 143 सीटें थीं. इनमें से जेडीयू के पास 88 और बीजेपी के पास 55 सीटें थीं. इस बार बीजेपी ने बड़ा मुनाफा कमाया है. उसकी सीटें 80 के पार भी हो सकती हैं.

आरजेडी-एलजेपी पिछली विधानसभा में कुलमिलाकर 64 सीटें जीती थीं लेकिन इस बार उनका 50 पार करना भी मुश्किल हो गया है.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः महेश झा

DW.COM

WWW-Links