1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मंथन

नींद में तनाव से खलल

नींद पर रिसर्च करने वाले वैज्ञानिक इस बात पर चिंतित हैं कि औद्योगिक देशों में लोग कम सो रहे हैं और उन्हें नींद भी ठीक से नहीं आ रही. 100 साल पहले लोग अभी के मुकाबले दो घंटे ज्यादा सोते थे.

नींद में खलल की वजह है तनाव, हर समय मौजूद रहने की जरूरत और कामयाबी का दबाव. पश्चिमी दुनिया में एक तिहाई लोग ठीक से सो नहीं पाते. बर्लिन की स्टेट बैले कंपनी के डांसरों को इस समस्या का पता है. खासकर नए शो के प्रीमियर से पहले दबाव बढ़ जाता है. शो देर रात तक होने के कारण रात में जरूरी आराम का समय नहीं मिलता. तो आखिर उपाय क्या है?
नींद विशेषज्ञ प्रो. इंगो फीत्से कहते हैं, "दिन में थोड़ी देर झपकी लेते हुए या पावरनैप करते हुए हमें आधी गहरी नींद आती है. दस से बीस मिनट की ये आधी गहरी नींद काफी है. उसके बाद जब आपकी नींद खुलती है, खासकर गैर आरामदेह पोजीशन में, तो आप महसूस करते हैं कि अगले तीन चार घंटों के लिए आपमें फिर से स्फूर्ति आ गई है."


आराम के लिए कमरे
बर्लिन के डांसरों के लिए आराम करने के लिए विशेष कमरे बनाए गए हैं. वैज्ञानिकों ने इसे साबित किया है कि दिन के समय कम कम समय की नींद से सोने की कमी पूरी हो सकती है. रिहर्सल और शो के बीच में डांसर शांत कमरों में कुछ समय आराम करते हैं. कोशिकाओं और दिमाग से काम नहीं लिया जाता और शरीर को रिलैक्स करने दिया जाता है.
स्टेट बैले कंपनी के उप प्रमुख डॉ. क्रिस्टियाने थियोबाल्ड को भी अपने कलाकारों के स्वास्थ्य की चिंता है. वे कहते हैं, "हमारे डांसर रेस्ट रूम का काफी इस्तेमाल करते हैं. वे शारीरिक प्रदर्शन और पर्याप्त नींद के बीच गहरे संबंध को महसूस करते हैं. यदि वे पर्याप्त नींद लेने को नजरअंदाज करते हैं, लगातार कम सोते हैं तो अपने परफॉर्मेंस में अंतर को तुरंत महसूस करते हैं. डांसर भले ही कलाकार हों लेकिन वे शारीरिक प्रदर्शन करने वाले प्रतिस्पर्धी खिलाड़ियों जैसे होते हैं. हमें यह नहीं भूलना चाहिए और इसमें नींद की बड़ी भूमिका होती है."


सैरा मेस्त्रोविच भी अपनी दिनचर्या में वैज्ञानिकों की सलाह पर ध्यान दे रही हैं. "इस प्रतिस्पर्धा में डटे रहना बहुत ही मुश्किल है. और खासकर हर दिन उच्च स्तरीय परफॉर्मेंस करना, दर्द और तकलीफ के बावजूद हर दिन ऊंचे स्तर पर बने रहना." नींद इंसान के लिए अमृत की तरह है. और इन डांसरों के लिए तो खासकर ताकि वे बेहतरीन प्रदर्शन कर सकें. कई अंतरराष्ट्रीय कंपनियों में कर्मचारियों के लिए आराम के कमरे बनाए गए हैं, जहां काम के बीच में झपकी लेने के लिए कर्मचारी आराम कर दोबारा ताजा महसूस कर सकते हैं.
एमजे/एसएफ

DW.COM

संबंधित सामग्री