1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

निरुपमा हत्याकांड - मां गिरफ़्तार

भारतीय पुलिस ने कहा है कि उसने राष्ट्रीय दैनिक में काम करने वाली एक गर्भवती पत्रकार की मां को हत्या के आरोप में गिरफ़्तार किया है. पुलिस को संदेह है कि यह सम्मान के लिए की गई हत्या हो सकती है.

default

नई दिल्ली में आर्थिक दैनिक बिजनेस स्टैंडर्ड में काम करने वाली 22 वर्षीया निरुपमा पाठक पिछले सप्ताह मृत पाई गई थी. वह अपने माता-पिता से मिलने झारखंड के कोडरमा गई थी.

पाठक के परिवार ने गुरुवार को मौत को आत्महत्या बताकर उसकी रिपोर्ट करवाई और पुलिस को बताया कि निरुपमा अपने कमरे में पंखे से लटकी पाई गई. झारखंड के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी एमएस भाटिया ने बताया है कि "पोस्ट मॉर्टम रिपोर्ट से पता चलता है कि मौत हत्या का साफ मामला है, जो गला दबाने से दम घुंटने के कारण हुई."

पुलिस का कहना है कि निरुपमा पाठक की मां को गिरफ़्तार कर लिया गया है और उस पर हत्या का आरोप है, जबकि उसके पिता और भाई से पूछताछ चल रही है. पुलिस को मामले के ऑनर किलिंग होने का संदेह इसलिए हो रहा है कि पोस्ट मॉर्टम रिपोर्ट के अनुसार निरुपमा को तीन महीने का गर्भ था.

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार ब्राह्मण जाति की निरुपमा कायस्थ जाति के अपने साथी पत्रकार से अंतरजातीय विवाह करना चाहती थीं. निरुपमा कोडरमा 19 अप्रैल को पहुंची थीं और उन्हें 28 अप्रैल को दिल्ली के लिए रवाना होना था लेकिन अंतिम मौके पर उनका रिजर्वेशन रद्द करवा दिया गया था.

राष्ट्रीय महिला आयोग ने भी निरुपमा पाठक की मौत के मामले में झारखंड पुलिस से रिपोर्ट मांगी है. राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष गिरिजा व्यास ने कहा है कि उन्होंने कोडरमा जिला पुलिस से मामले की विस्तृत रिपोर्ट मांगी है. व्यास ने कहा कि इस मामले को फास्ट ट्रैक अदालत के हवाले कर देना चाहिए ताकि जल्द से जल्द दोषियों को सज़ा दी जा सके.

रिपोर्ट: एजेंसियां/महेश झा

संपादन: उज्ज्वल भट्टाचार्य

संबंधित सामग्री