1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

नाराज नारंग बोले, अब खेलने का मन नहीं

निशानेबाज गगन नारंग द्वारा कॉमनवेल्थ खेलों से अपना नाम वापस लेने की सुगबुगाहट के साथ ही पदक जीतने की भारत की उम्मीदों को करारा झटका लगा है. नारंग खेल रत्न सम्मान न मिलने के कारण आहत हैं.

default

पदक की उम्मीदों पर असर

ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न में आयोजित पिछले कॉमनवेल्थ खेलों में 4 स्वर्ण पदक जीतने वाले नारंग ने बताया कि वह खेल रत्न सम्मान न मिलने से काफी हतोत्साहित हैं और इस वजह से प्रतियोगिता से ही अपना नाम वापस लेने पर विचार कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि वह अब तक फैसला नहीं कर सके हैं कि खेलों में हिस्सा लिया जाए या नहीं.

गौरतलब है कि नारंग पिछले सप्ताह ही म्यूनिख विश्व प्रतियोगिता में कांस्य पदक जीतने के बाद लंदन ओलंपिक के लिए क्वॉलिफाई करने वाले पहले भारतीय निशानेबाज बने हैं. अपनी नाराजगी का इजहार करते हुए नारंग ने कहा, "मुझे लगता है कि देश का सबसे बड़ा खेल सम्मान खिलाड़ियों के प्रदर्शन की बजाय मीडिया रिपोर्टों द्वारा बनी उनकी छवि के आधार पर दिया जाने लगा है. मेरे लिए यह हताशा भरा अनुभव है और इससे काफी आहत होने के कारण मैं 3 अक्टूबर से शुरू होने वाले कॉमनवेल्थ खेलों में हिस्सा लेने के बारे में अब तक कोई फैसला नहीं कर सका हूं."

उनके हिस्सा न लेने से देश को काफी नुकसान होने की आशंका के सवाल पर नारंग ने कहा, "मुझे यह भी भरोसा नहीं है कि मेरे सकारात्मक फैसले के बावजूद मुझे कॉमनवेल्थ खेलों की चयन समिति चुनेगी भी या नहीं. इसलिए यह सवाल आयोजकों से ही पूछा जाना चाहिए."

रिपोर्ट: एजेंसी/निर्मल

संपादन: वी कुमार