1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

नाटो के 30 टैंकरों में फिर आग लगाई

पाकिस्तान में नाटो के टैंकरों पर चरमपंथी हमले रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं. शनिवार को फिर 30 टैंकरों को आग लगा दी गई. दो दिन पहले ही अमेरिका ने पाकिस्तानी सीमा में हवाई हमले में दो सैनिकों के मारे जाने पर माफी मांगी है.

default

अधिकारियों के मुताबिक लगभग 20 बंदूकधारियों ने सुबह सुबह दक्षिण पश्चिमी कस्बे सीबी में खड़े 30 टैंकरों को आग लगा दी. अफगानिस्तान में लड़ रही विदेशी सेना के लिए आपूर्ति ले जाने वाले इन टैंकरों को सीमा पर स्थित शहर चमन जाना था. पाकिस्तान में 30 सितंबर को हुए नाटो के हवाई हमलों में दो पाकिस्तानी सैनिकों की मौत के बाद इस तरह के हमले बढ़ गए हैं.

स्थानीय अधिकारी नईम शेरवानी ने बताया, "हमलावरों ने पहले गोलियां चलाई और फिर टैंकरों पर छोटे छोटे रॉकेट दागे." इस हमले में टैंकरों के साथ जाने वाले अर्धसैनिक बलों का एक जवान घायल हुआ है.

आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में अमेरिका का साथ दे रही पाकिस्तानी सरकार सैन्य कार्रवाई के बावजूद अपने यहां तालिबान चरमपंथियों का सफाया नहीं कर पा रही है. अफगानिस्तान से लगने वाले पाकिस्तान के कबायली इलाकों को इन चरमपंथियों का गढ़ समझा जाता है. गुरुवार को ही कराची में एक सूफी दरगाह पर दो आत्मघाती हमले हुए जिनमें कम से कम सात लोग मारे गए और 65 घायल हो गए.

उधर दो दिन पहले ही अमेरिका ने 30 सितंबर को हुए हवाई हमले में दो पाकिस्तानी सैनिकों की मौत की घटना पर माफी मांगी है. इसके बाद उम्मीद बढ़ गई है कि पाकिस्तान नाटो के ट्रकों और टैंकरों के लिए पश्चिमोत्तर इलाके से होकर अफगानिस्तान जाने वाला रास्ता खोल देगा. नाटो के हमले के बाद सुरक्षा कारणों से पाकिस्तान ने इस रास्ते को बंद कर दिया था. वैसे दक्षिण पश्चिमी इलाके में पड़ने वाला ऐसा ही एक दूसरा रास्ता खुला हुआ है.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः एन रंजन

DW.COM

WWW-Links