1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

नस्लभेदी बयान के लिए एएफडी पर बिफरे विदेश मंत्री

जर्मनी के विदेश मंत्री जिगमार गाब्रिएल ने दक्षिणपंथी पार्टी एएफडी की तुर्क मूल के अधिकारी को अनातोलिया भेजने की मांग वाले बयान के लिए कड़ी आलोचना की है.

चुनाव नजदीक आने के साथ तेज हुए चुनाव प्रचार में नेताओं की जुबान भी तेज चल रही है. अल्टरनेटिव फॉर डॉयचलैंड के उप प्रमुख आलेक्जांडर गाउलांड ने हाल ही में जर्मनी के एकीकरण आयुक्त अयदान ओजोगुज की आलोचना की थी. उनका कहना था कि ओजोगुज के पास खास जर्मन तहजीब नहीं है.

मध्यजर्मनी में आईक्सफेल्ड की एक रैली में गाउलांड ने यह भी कहा कि ओजोगुड नौकरी छोड़ कर देखना चाहिए कि वास्तव में जर्मन संस्कृति या तहजीब क्या होती है. जर्मन अखबार अल्गेमाइने त्साइटुंग के मुताबिक तालियों और नारों के शोर के बीच गाउलांड ने कहा, "और तब उसके बाद वो शायद कभी वापस नहीं आतीं, शुक्र है भगवान का हम उन्हें अनातोलिया में भेज सकते हैं." 

विदेश मंत्री ने भड़काउ बयान को "अस्वीकार्य" कहा है.

गाब्रिएल का बयान पढ़ते हुए उनके प्रवक्ता ने कहा, "दूसरे विचार वाले लोगों के लिए इस बयान में मर्यादा और सम्मान की कमी है और इस तरह के बयान दुनिया में हमारे देश की बुरी यादों को फिर ताजा कर देते हैं."

ओजोगुज सोशल डेमोक्रैटिक पार्टी एसपीडी की उप नेता भी हैं. हैम्बर्ग में पैदा हुई ओजोगुज के मां बाप तुर्क थे जो "मेहमान कामगार" के रूप में 1950 के दशक में जर्मनी आए.

चांसलर अंगेला मैर्केल के प्रवक्ता स्टेफान साइबर्ट का कहना है कि "ओजोगुज हैम्बर्ग की हैं इसलिये ये बयान अपने आप ही खारिज हो जाता है." एसपीडी नेता मार्टिन शुल्ज जो चांसलर पद के लिए अंगेला मैर्केल को चुनौती दे रहे हैं उन्होंने भी गाउलैंड के बयान की तीखी आलोचना की है. मार्टिन शुल्ज ने ट्विटर पर लिखा है, "हमें हर संभव कोशिश करनी चाहिये कि इस तरह के नस्लभेदी लोग बुंडेस्टाग (जर्मन संसद) में नहीं पहुंच सके." 

प्रवासियों का विरोध करने वाली अल्टरनेटिव फॉर डॉयचलैंड पार्टी सितंबर के चुनाव से पहली बार संसद में कदम रखने की कोशिश कर रही है. फिलहाल पार्टी को लगभग 8-10 फीसदी वोट मिल रहे हैं ऐसे में इसके तीसरे नंबर के लिए मुकाबले में रहने की उम्मीद की जा रही है.

चांसलर मैर्केल की रुढ़िवादी पार्टी फिलहाल अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी एसपीडी से दहाई के आंकड़े में बढ़त बनाये हुए है. दोनों पार्टियों ने एएफडी के साथ गठबंधन बनाने से इनकार किया है. 

एनआर/ओएसजे (एएफडी)

संबंधित सामग्री