1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

नवंबर में भारत आएंगे ओबामा

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा नवंबर में भारत आ रहे हैं. उन्होंने इसका एलान किया और कहा कि भारत उभरती हुई जिम्मेदार वैश्विक शक्ति है और भारत के बगैर भावी अमेरिकी रणनीति की कल्पना नहीं की जा सकती है.

default

भारतीय विदेश मंत्री एसएम कृष्णा के सम्मान में अमेरिकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन ने भोज आयोजित किया, जिसमें राष्ट्रपति बराक ओबामा भी पहुंचे. उन्होंने कहा कि भारत और अमेरिका के रिश्ते बुनियादी तौर पर अनोखे हैं.

किसी अमेरिकी राष्ट्रपति का आखिरी दौरा मार्च 2006 में हुआ था, जब जॉर्ज डब्ल्यू बुश दिल्ली गए थे. उसी वक्त भारत और अमेरिका ने परमाणु करार की नींव रखी थी.

भारतीय विदेश मंत्री अमेरिका के साथ भारत-अमेरिकी रणनीतिक बातचीत के लिए वॉशिंगटन में हैं. अमेरिकी राष्ट्रपति आम तौर पर किसी विदेश मंत्री के स्वागत भोज में नहीं जाते लेकिन भारतीय विदेश मंत्री से मिलने वह विदेश विभाग के मुख्यालय पहुंच गए.

अमेरिकी प्रशासन का कहना है कि तारीखें पक्की नहीं हैं लेकिन समझा जाता है कि अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा सात और 10 नवंबर के बीच भारत का दौरा करेंगे. ओबामा ने अपनी भारत यात्रा का एलान करते हुए कहा, "भारतीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने अपने दौरे में मुझे और मेरे परिवार को इस साल भारत आने की दावत दी थी. मैंने खुशी खुशी इसे स्वीकार कर लिया. पिछले हफ्ते उनसे बातचीत में मैंने अपने आने की बात कह दी और आज रात मुझे इस बात का एलान करते हुए खुशी हो रही है कि मैं नवंबर के शुरू में भारत जा रहा हूं."

US-Präsident Barack Obama in Indien

ओबामा ने कहा कि उनके प्रशासन के लिए भारत के साथ रिश्ते उच्चतम प्राथमिकताओं में शामिल हैं और उनके लिए तो खास तौर पर बेहद जरूरी हैं. अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, "तो मैं इस रिश्ते को आगे बढ़ाना चाहता हूं. भारत और इसके लोगों के पास अद्भुत संस्कृति है, जिसे बांटा जा सकता है." ओबामा का मानना है कि इक्कीसवीं सदी में दोनों देशों के रिश्ते बहुत ऊपर जाएंगे.

उन्होंने कहा, "हम भारत के साथ अपने रिश्तों को बेहद अहमियत देते हैं. इसलिए नहीं कि दुनिया के नक्शे पर वह किसी खास जगह स्थित है, बल्कि इसलिए कि हम यह देखना चाहते हैं कि हम मिल कर कहां तक जा सकते हैं. सभी देशों की सुरक्षा और समृद्धि के लिए भारत का रोल अपरिहार्य है." अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि यही वजह है कि मेरे कैबिनेट का एक तिहाई हिस्सा भारत का दौरा कर चुका है.

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि भारतीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की यात्रा के बाद दोनों देशों के रिश्ते बहुत बेहतर हुए हैं. उन्होंने कहा, "मिचेल (ओबामा) और मैं खुद को गौरवान्वित महसूस करते हैं कि हमने भारतीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और उनकी पत्नी श्रीमती कौर का वॉशिंगटन में अपने राष्ट्रपति काल में पहले आधिकारिक भोज में स्वागत किया." तब ओबामा ने कहा था कि भारत एशिया का लीडर है और विश्व में अपनी अलग पहचान बनाता है.

रिपोर्टः पीटीआई/ए जमाल

संपादनः आभा मोंढे

संबंधित सामग्री