1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

नया चेहरा दिखा डॉनल्ड ट्रंप का

अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप का संसद में पहला भाषण अब तक का पहला सहिष्णु भाषण था. उन्होंने अपने अब तक स्टाइल के विपरीत समझौतावादी रुख अपनाया और देशहित में डेमोक्रैटिक और रिपब्लिकन पार्टियों को साथ आने को कहा.

डॉनल्ड ट्रंप ने राष्ट्रपति पद पर अपने पहले 40 दिन कार्यकारी अध्यादेशों के जरिये विपक्ष को उकसाने और अपने ट्वीटों के जरिये मीडिया को बैरी बनाने में बिताये हैं. अमेरिकी संसद के संयुक्त अधिवेशन में अपने पहले भाषण में ट्रंप ने अपने पूर्वगामियों की राह पकड़ी है और मुद्दा दर मुद्दा दोनों पक्षों तक पहुंचे हैं. दक्षिणपंथी पॉपुलिस्ट ट्रंप ने मंगलवार रात कैपिटोल हिल पर अपना नया चेहरा दिखाया, बटन किया हुआ जैकेट, ऊंची कॉलर वाली शर्ट और धारियों वाली टाई.

ट्रंप ने विपक्षी डेमोक्रैटिक पार्टी की ओर सहयोग का हाथ बढ़ाते हुए कांग्रेस से कहा, "देश में हर चीज जो टूटी हुई है, ठीक की जा सकती है. हर समस्या का समाधान हो सकता है. लोग इसके अधिकारी हैं, इसलिए क्यों न हम साथ आएं और काम करवायें, और ठीक से करवायें?" राष्ट्रपति ने अप्रत्याशित नरमी दिखाते हुए कहा कि डेमोक्रैटों और रिपब्लिकनों को साथ आना चाहिए और देश की भलाई के लिए एकजुट होना चाहिए. ट्रंप ने घृणा की उसके हर रूप में आलोचना करते हुए यहां तक कहा कि असली और सकारात्मक आप्रवासन सुधार संभव है.

USA Proteste gegen Donald Trump in Washington (Reuters/J. Lawler Duggan )

व्हाइट हाउस के सामने राष्ट्रपति ट्रंप का विरोध

व्यवहार पर इस नरम रुख के बावजूद कुछ मुद्दों पर ट्रंप अपने पॉपुलिस्ट नारों पर कायम रहे. उन्होंने कम कुशल कामगारों का आप्रवासन करदाताओं पर बोझ बताया, मेक्सिको की सीमा पर ग्रेट वॉल बनाने की शपथ ली, व्यापार समझौतों पर हमाला बोला, न्यायोचित व्यापार की मांग की और संरचना पर 1,000 अरब डॉलर खर्च का आश्वासन दिया जिसमें बाय अमेरिकन, हायर अमेरिकन सिद्धांत लागू होगा.

संसद में ट्रंप का यह भाषण उनके प्रशासन के आसन्न दौर का संकेत हो सकता है. उनके रुखे बर्ताव, असंवेदनशीलता और अमेरिका को फिर महान बनाने जैसी दक्षिणपंथी रुझानों पर जारी आलोचना ने उस पैमाने को ढंक दिया है जहां तक वे कंजरवेटिव रिपब्लिकन पार्टी की नीतियों से आगे गये हैं. पिछले साल पार्टी की उम्मीदवारी पाने के बाद से उन्होंने रिपब्लिकन पार्टी की दशकों पुरानी व्यापार और विदेशी साझेदारों की नीति को उलट पुलट डाला. दस साल पहले तक डेमोक्रैटिक पार्टी को खुले आम समर्थन देने वाले ट्रंप पहले रिपब्लिकन उम्मीदवार थे जो समलैंगिक अधिकारों के बारे में गर्मजोशी से बात करते और कल्याणकारी राज्य के प्रति पार्टी के मुक्त बाजार समर्थकों के मुकाबले ज्यादा मध्यमार्गी रवैया दिखाते.

USA Carryn Owens bei der Rede von Donald Trump vor dem US-Kongress in Washington (Reuters/K. Lamarque)

भाषण के दौरान यमन हमले में शहीद सैनिक रायन ओवेंस की विधवा कैरीन ओवेंस और इवांका ट्रंप

संसद में डॉनल्ड ट्रंप ने कहा, "मेरा प्रशासन बच्चों की देखभाल को सुलभ बनाने, नये माता पिताओं को सवेतन पारिवारिक छुट्टी दिलवाने, महिलाओं के स्वास्थ्य पर निवेश करने, स्वच्छ पानी और हवा को प्रोत्साहन देने और सेना तथा संरचना के निर्माण के लिए दोनों पार्टियों के सदस्यों के साथ काम करना चाहता है." ट्रंप के भाषण के दौरान रिपब्लिन पार्टी के सांसद पारिवारिक छुट्टी के मुद्दे पर जोरदार तालियां बजाते दिखे जो सदियों से डेमोक्रैटिक पार्टी का मुद्दा रहा है. पिछले साल चुनाव प्रचार के दौरान ट्रंप के समर्थन में देरी और झिझक के साथ आने वाले प्रतनिधि सभा के स्पीकर पॉल रायन ने भाषण को "अमेरिकी जनता के लिए साहसिक और उम्मीदों वाला संदेश" बताया.

हालांकि डेमोक्रैटिक सांसदों की शुरुआती प्रतिक्रिया सकारात्मक नहीं थी. राष्ट्रपति चुनाव की उम्मीदवारी में हिलेरी क्लिंटन से पिछड़ने वाले डेमोक्रैटिक सीनेटर बैर्नी सांडर्स ने ताली भी नहीं बजाई जब ट्रंप ने न्यायाचित व्यापारिक संबंधों की बात की. वामपंथी रुझान वाले सांडर्स खुद व्यापारिक समझौतों के खिलाफ रहे हैं. सीनेट में डेमोक्रैटिक अल्पमत के नेता चार्ल्स शुमर ने कहा कि भाषण में "अवास्तविकता की हवा" थी क्योंकि ट्रंप ने सदन में जो कुछ भी कहा वह "उससे कितना अलग था जिस तरह उन्होंने पहले 40 दिन शासन किया है." प्रतिनिधि सभा में डेमोक्रैटिक नेता नैंसी पेलोसी ने राष्ट्रपति पर 40 दिनों के शासन के दौरान "खतरनाक, अक्षम और असंवैधानिक कदमों" का आरोप लगाया.

एमजे/ओएसजे (डीपीए)

संबंधित सामग्री