1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

नडाल और सेरेना की बादशाहत

रफाएल नडाल आठ बार फ्रेंच ओपन जीतने वाले इकलौते खिलाड़ी बन सकते हैं. महिलाओं में सेरेना विलियम्स की गति अगर बरकरार रहती है तो उन्हें जीत से दूर करने वाला कोई शायद ही होगा.

सेरेना और राफा दोनों ही खिलाड़ियों ने रोम में अपने सबसे बड़े प्रतिद्वंद्वियों विक्टोरिया अजारेंका और रोजर फेडरर को हराया.

नडाल ने सात महीने की चोट के बाद विस्फोटक खेल का प्रदर्शन किया. रोम की लाल मिट्टी पर नौ साल में सातवीं जीत के साथ उनके स्विस प्रतिस्पर्धी और प्रशंसकों को कोई शंका नहीं रही होगी कि वह फ्रेंच ओपन खिताब के आठवीं बार भी मजबूत दावेदार हो सकते हैं. फेडरर ने कहा, "अब वह फ्रेंच ओपन के फेवरेट खिलाड़ी हैं.''

साल 2013 में फेडरर पहली बार ही फाइनल में पहुंच सके लेकिन नडाल आठवीं बार फाइनल में पहुंचे. वहीं थोमास बेर्डिच ने चेक खिलाड़ी नोवाक जोकोविच को हैरान कर दिया.

फेडरर और नडाल के बीच 30 मैचों में 19 बार फेडरर हारे हैं जिनमें से 12 मात उन्हें लाल बजरी पर मिली. नडाल ने कहा, "शायद यह काफी नहीं लेकिन मैं आपको क्या कह सकता हूं. अगर मैं ऐसा ही खेलता रहा और रोलां गैरां पहुंचा और वहां किसी ने मुझे हरा दिया, तो मैं उससे हाथ मिलाउंगा. मैं रोलां गैरो जाउं और पहले ही दौर में हरा दिया जाऊं ऐसा भी संभव है. ये खेल है, ये टेनिस है."

जोकोविच ने अपनी हार का कारण एकाग्रता खत्म होना बताया. "इस नतीजे की मैं अपेक्षा नहीं कर रहा था लेकिन मैं आशावादी हूं. मैं थोड़ा समय लूंगा और पैरिस के लिए तैयारी करूंगा. यह मेरे लिए साल का सबसे अहम इवेंट है. मैं जानता हूं कि मैं मिट्टी पर अच्छा खेल सकता हूं."

जहां नडाल की राह में फेडरर और जोकोविच बाधा हैं वहीं सेरेना विलियम्स को बड़ी चुनौती अजारेंका और मारिया शारापोवा से मिलेगी.

विश्व की नंबर दो टेनिस खिलाड़ी शारापोवा ने इटली में क्वार्टर फाइनल से पहले बुखार के कारण नाम हटा लिया. उधर विलियम्स का चौथा सीजन है और उनके करियर का 51 वां था. "भले ही एक बार हो, पर मैंने हर ग्रैंड स्लैम जीता. लेकिन मैं अब कोई दबाव महसूस नहीं करती." वहीं अजारेंका ने कहा, "उन्होंने बहुत अच्छा खेल दिखाया. पिछले डेढ़ साल से बहुत अच्छा खेल दिखा रही हैं."

हालांकि 2002 के बाद सेरेना का रोम में दूसरा ही खिताब था. लेकिन वह पैरिस के लिए पूरी तरह तैयार हैं. "मैं मेहनत करना चाहती हूं और जीत पर ध्यान लगाऊंगी कि हर अंक जीतूं और कहीं भी ढीली न पड़ूं."

एएम/एनआर (एएफपी, एपी)

DW.COM

WWW-Links