1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

धोनी ने पीयूष चावला के चयन को सही बताया

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने वर्ल्ड कप के 15 सदस्यों में लेग स्पिनर पीयूष चावला को लिए जाने को सही ठहराया. धोनी ने कहा कि चावला के रहने से टीम का स्पिन आक्रमण मजबूत होगा.

default

धोनी का कहना है, "यह अच्छा है कि पीयूष हमारी टीम में हैं. इससे टीम का आक्रमण मजबूत होगा. वह थोड़ी बहुत बल्लेबाजी भी कर सकते हैं. उन्होंने रणजी और दूसरे मैचों में अच्छे स्कोर किए हैं. अगर हम पांच गेंदबाजों से खेलने की योजना बनाएं तो वह सातवें या आठवें नंबर पर अच्छी बल्लेबाजी कर सकते हैं."

पीयूष चावला ने जुलाई 2008 के बाद कभी भी वनडे अंतरराष्ट्रीय मैच नहीं खेला है, इसके बाद भी उन्हें चुना गया. धोनी ने कहा कि उन्हें इस बात का पता है. उनका कहना है, "मैं हमेशा कहता हूं कि आईपीएल या फर्स्ट क्लास में खेलना और अंतरराष्ट्रीय मैच में खेलना अलग अलग बात है. पीयूष को अंतरराष्ट्रीय मैचों का अभ्यास चाहिए."

एस श्रीसंत, ईशांत शर्मा और रोहित शर्मा जैसे खिलाड़ियों का नाम आखिरी 15 खिलाड़ियों में नहीं है लेकिन धोनी का कहना है कि रिजर्व खिलाड़ी भी तैयार हैं. उन्होंने कहा, "अगर आप रिजर्व हैं और किसी बल्लेबाज या गेंदबाज को चोट लगती है तो आपको टीम में आना होगा. इसलिए जरूरी है कि आपकी मानसिक स्थिति ठीक रहे." धोनी ने कहा कि आखिरकार हमें 15 खिलाड़ियों को ही चुनना था और जो रह गए, इसका मतलब नहीं कि उन्हें मौका ही नहीं मिलेगा.

फील्डिंग की जरूरत पर जोर देते हुए धोनी ने कहा, "हमें अपनी फील्डिंग अच्छी करनी है. अगर आप एक मुश्किल रन आउट कर देते हैं और एक या दो बेहद मुश्किल कैच पकड़ लेते हैं तो यह पूरा मैच बदल देता है. इसके साथ ही अंतिम ओवरों में बेहतर गेंदबाजी पर भी ध्यान देना है. जब हम भारतीय उप महाद्वीप में खेलेंगे, तो आखिरी ओवरों की गेंदबाजी बेहद मायने रखती है."

भारतीय क्रिकेट टीम ने लगभग एक साल से अपने सर्वश्रेष्ठ 11 खिलाड़ियों के साथ वनडे मैच नहीं खेला है लेकिन धोनी का मानना है कि इससे युवा खिलाड़ियों को ज्यादा मौके मिले हैं. भारत को मंगलवार को दक्षिण अफ्रीका से तीसरा वनडे मैच भी खेलना है.

रिपोर्टः पीटीआई/ए जमाल

संपादनः एस गौड़

DW.COM

WWW-Links