1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

धोनी ने कहा, युवराज को मिस करेंगे

टीम इंडिया के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को एशिया कप में युवी की कमी खलेगी. माही को उम्मीद है कि युवराज सिंह जल्द ही भारतीय क्रिकेट टीम में वापसी कर लेंगे. युवी को श्रीलंका में होने वाले टूर्नामेंट में नहीं चुना गया.

default

युवराज सिंह

पिछले काफी समय से युवराज सिंह फॉर्म में नहीं हैं और हाल में उन पर अनुशासनहीनता का भी आरोप लगा. धोनी का कहना है कि युवराज के न होने पर मध्य क्रम में युवा खिलाड़ियों को जरा ज्यादा जिम्मेदारी उठानी होगी. भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान ने कहा, "निश्चित तौर पर हमें उनकी कमी खलेगी. अगर आप पिछले दो साल में उनका प्रदर्शन देखें, तो वह मध्य क्रम में हमारी

England vs India Twenty20 World Cup cricket match

गंभीर मुद्दाःधोनी

मजबूती रहे हैं. जिस तरह से वह बल्लेबाजी करते हैं, शायद ही कोई दूसरा बल्लेबाज ऐसा कर सकता है."

धोनी ने कहा कि उनकी कमी जरूर खलेगी लेकिन यह युवाओं के लिए बेहतरीन मौका भी है कि वे इस कमी को न खलने दें और मैदान के अंदर हम युवराज को मिस न करें.

युवराज सिंह हाल के दिनों में अपने फिटनेस को नहीं संभाल पाए. उनका वजन बढ़ गया है. प्वाइंट के बेहतरीन फील्डर युवराज इन दिनों सीमा रेखा पर क्षेत्ररक्षण करते देखे जाते हैं.

हालांकि माही को इस बात में कतई संदेह नहीं है कि युवराज

Cricket West-Indien

फॉर्म में नहीं-युवी

जल्द ही टीम में लौट आएंगे. वह कहते हैं, "जिस तरह का टैलेंट युवराज में है, मुझे नहीं लगता कि उन्हें टीम में लौटने में कोई दिक्कत होगी. मुझे उम्मीद है कि वह जल्द से जल्द टीम में लौटेंगे. मैं युवराज का बहुत बड़ा फैन हूं और उनके साथ खेलना बड़ी बात है. वह दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में एक हैं."

धोनी ने कहा कि वह पावरप्ले में जिस तरह की बल्लेबाजी करते हैं, वह वाकई देखने लायक होती है. भारतीय टीम के कप्तान के मुताबिक युवराज डिफेंसिव और आक्रामक दोनों तरह से खेल सकते हैं.

एशिया कप में भारत का पहला मुकाबला बांग्लादेश से 16 जून को होगा. टीम इंडिया ने अभी अपनी रणनीति नहीं तय की है. महेंद्र सिंह धोनी का कहना है कि श्रीलंका पहुंचने के बाद ही चार देशों के टूर्नामेंट के लिए स्ट्रेटजी बनेगी. भारत लंबे समय बाद वनडे क्रिकेट खेल रहा है. हालांकि जिम्बाब्वे में भी तीन देशों के वनडे टूर्नामेंट में राष्ट्रीय टीम ने हिस्सा लिया था, लेकिन उसमें आठ बड़े सितारों को शामिल नहीं किया गया था. भारत उसमें हार कर बाहर हो गया.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए जमाल

संपादनः एम गोपालकृष्णन

संबंधित सामग्री