1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

धोनी को मिला गावस्कर, अकरम का समर्थन

ट्वेंटी20 वर्ल्ड कप में टीम इंडिया के लचर प्रदर्शन से आलोचना के घेरे में आए महेंद्र सिंह धोनी को क्रिकेट जगत के दिग्गज खिलाड़ियों से समर्थन भी मिल रहा है. सुनील गावस्कर, वसीम अकरम और दिलीप वेंगसरकर ने धोनी की पैरवी की.

default

लिटिल मास्टर

लिटिल मास्टर सुनील गावस्कर का मानना है कि धोनी को कप्तानी से हटाना सही फ़ैसला नहीं होगा. एक टीवी चैनल से बातचीत में गावस्कर ने कहा, "मुझे लगता है कि कप्तानी के लिए धोनी ही भारत के लिए सही पसंद हैं. कप्तानी के दिनों की शुरुआत में जिस तरह भाग्य ने उनका साथ दिया वैसा साथ उन्हें फ़िलहाल नहीं मिल रहा है."

Pakistanischer Cricketspieler Wasim Akram

वसीम अकरम

गावस्कर के मुताबिक़ धोनी ने एक कप्तान के तौर पर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की कोशिश की है.

जब गावस्कर से पूछा गया कि क्या एक बल्लेबाज़ के रूप में धोनी की जगह भारतीय टीम में सुरक्षित है तो गावस्कर ने कहा, "किसी भी खिलाड़ी को इस भुलावे में नहीं रहना चाहिए कि टीम में उसका स्थान सुरक्षित है." वर्ल्ड कप ट्वेंटी20 में धोनी ने ख़राब प्रदर्शन के लिए आईपीएल पार्टियों को ज़िम्मेदार ठहराया था जिसे गावस्कर ने बहाना क़रार दिया था लेकिन कप्तानी के लिए वह धोनी का समर्थन कर रहे हैं.

पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर वसीम अकरम भी मानते हैं कि धोनी से कप्तानी छीन लेना समस्या का इलाज नहीं है. अकरम के मुताबिक़ ऐसा कोई भी फ़ैसला सही नहीं ठहराया जा सकता. "यह सही है कि भारत ने वर्ल्ड कप में अच्छा प्रदर्शन नहीं किया है लेकिन कप्तान बदलना सही नहीं होगा. इस टूर्नामेंट के अलावा टीम ने अच्छा खेल दिखाया है और धोनी ने शानदार तरीक़े से टीम का नेतृत्व किया है."

अकरम ने साफ़ शब्दों में कहा कि धोनी की कप्तानी पर इतनी जल्दी फ़ैसला लेना सही नहीं है. वैसे अकरम ने यह ज़रूर माना कि भारतीय खिलाड़ियों को अपनी फ़िटनेस पर ध्यान देने की ज़रूरत है.

हाल के दिनों में ऐसी रिपोर्टें आई हैं कि टीम इंडिया के कोच गैरी कर्स्टन ने भारतीय खिलाड़ियों की फ़िटनेस पर सवाल उठाए हैं. अकरम ने कहा है कि कर्स्टन एक समझदार व्यक्ति हैं. अगर वह फ़िटनेस समस्या बता रहे हैं तो यह सच ही होगा. खिलाड़ियों को कर्स्टन की बात ठीक ढंग से समझनी चाहिए क्योंकि यह बड़ा मुद्दा है.

भारतीय टीम के पूर्व बल्लेबाज़ और पूर्व चयनकर्ता दिलीप वेंगसरकर ने भी अपने एक लेख में कहा है कि अगर धोनी को कप्तानी से हटाया जाता है तो यह भारतीय क्रिकेट को 5 साल पीछे धकेल देगा.

"धोनी सकारात्मक, समझदार और बेहद ठंडे दिमाग़ वाले क्रिकेटरों में शुमार होते हैं. मैदान पर और मैदान से बाहर उनका व्यवहार बहुत अच्छा रहा है. क्रिकेट की सभी विधाओं, टी20, वनडे और टेस्ट में उन्होंने अच्छा खेल दिखाया है. लोग कैसे भूल सकते हैं कि कुछ ही दिन पहले वह आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स को फ़ाइनल तक ले गए थे."

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: महेश झा

संबंधित सामग्री