1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

धोखे में रख कर बयान लिया गयाः यासिर हामिद

पाकिस्तान टेस्ट ओपनर यासिर हामिद ने कहा कि उन्हें धोखे में रख कर उनसे बयान लिया गया. हामिद ने ब्रिटिश अखबार को द न्यूज ऑफ द वर्ल्ड से बातचीत में साथी खिलाड़ियों के मैच फिक्सिंग में शामिल होने की बात कही.

default

मुश्किल में यासिर

रविवार को इस टेबलॉयड में हामिद का स्टिंग ऑपरेशन दिखाया गया जिसमें वह कह रहे हैं कि उनके साथी खिलाड़ी लगभग हर मैच फिक्स करते हैं. न्यूज ऑफ द वर्ल्ड ने अपनी वेबसाइट पर हामिद के स्टिंग ऑपरेशन का विडियो भी जारी किया. हामिद ने पाकिस्तान उच्चायुक्त के साथ बैठक के बाद पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के जरिए एक बयान जारी किया कि उन्हें कभी की किसी अखबार ने संपर्क नहीं किया.

Britischer Boulevard: News of the World

हामिद ने कहा कि 30 अगस्त को उन्हें एक व्यक्ति ने संपर्क किया था जिसने अपना नाम आबिद अली बताया था और उसने एयर लाइन्स के साथ स्पॉन्सरशिप के सौदे का प्रस्ताव रखा था. हामिद ने कहा कि उन्हें बाद में पता लगा कि अली न्यूज ऑफ द वर्ल्ड का खोजी एडिटर मज़हर महमूद है.

"वो जो कह रहा था उसमें मेरी रुचि थी और फिर हमने बातचीत शुरू की. उसने मुझे सौदे के लिए 50 हज़ार पाउंड का प्रस्ताव रखा. उसके बाद आबिद खान ने मुझसे मैच फिक्सिंग के आरोपों के बारे में सवाल पूछना शुरू किए. चूंकि मैं उसे एक संभावित एजेंट और दोस्त के तौर पर देख रहा था. मैंने बिना सोचे उसके सवालों के जवाब देने शुरू किए."

हामिद ने बताया, "उसने मुझसे तीन पाकिस्तानी खिलाड़ियों पर मैच फिक्सिंग के आरोपों के बारे में पूछा कि क्या मुझे और कोई जानकारी है. जहां तक मुझे याद है मैंने उसे वही बताया जो मैंने अखबारों में पढ़ा था. आबिद ने कोई कैमरा छिपा कर रखा है इस बारे में मुझे बिलकुल जानकारी नहीं थी."

हामिद ने कहा कि दो दिन बाद आबिद ने उसे 25 हज़ार पाउंड का देने की पेशकश की थी बशर्ते के वह निलंबित सलमान बट, मोहम्मद आमेर, मोहम्मद आसिफ के बारे में जानकारी दे. "मैंने तुरंत इससे मना किया और फोन रख दिया, इसके बाद मैंने आबिद के किसी फोन का जवाब नहीं दिया." पाकिस्तान में वनडे कप्तान शाहिद अफरीदी ने हामिद को अविश्वसनीय और बचकाना बताया.

इंग्लैंड के खिलाफ टी 20 मैच हारने के बाद शाहिद अफरीदी ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, "मैं नहीं जानता वो किसके साथ बैठा था और किन हालातों में उसने ये बात कही. लेकिन हम उसे काफी समय से जानते हैं और उससे किसी भी बात की उम्मीद की जा सकती है."

रिपोर्टः पीटीआई/आभा एम

संपादनः एस गौड़

DW.COM

WWW-Links