1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

धार्मिक समारोह में कुत्ते को शामिल करने पर बवाल

कनाडा में एक महिला पादरी लोगों के निशाने पर है. मारग्रेट रे नाम की इस पादरी ने एक व्यक्ति और उसके कुत्ते को पवित्र कम्यूनियन बख्शा. इस बात से कनाडा के ईसाई समाज का एक हिस्सा सख्त नाराज है.

default

कुत्ते को सम्मान पर बवाल

इस घटना के बाद रे की काफी आलोचना हुई है और उन्हें माफी मांगनी पड़ी है. रे एंगलीकन समुदाय की हैं. एंगलीकन समुदाय इंग्लैंड की चर्च से जुड़ा एक हिस्सा है. यह ईसाइयत के पारंपरिक नियमों को मानता है. हालांकि इसमें प्रोटेस्टेंट, रोमन कैथोलिक और पूर्वी ऑर्थोडॉक्स चर्च के भी कुछ तत्व शामिल हैं. कनाडा के एंगलीकन समुदाय में कुत्ते को कम्यूनियन देने पर काफी गुस्सा है. कनाडा में एंगलीकन नेटवर्क के चांसलर चेरिल चांग कहते हैं, “कुत्ते को कम्यूनियन देना कुछ ऐसा है जो हमारी चर्च या बाइबल को मानने वाली दुनिया की किसी भी चर्च में कभी नहीं होगा.”

पवित्र कम्यूनियन कैथलिक चर्च की अहम परंपरा है. कहा जाता है कि जीसस को जब सूली पर लटकाने के लिए गिरफ्तार किया गया, उससे पहले उन्होंने आखिरी बार अपने शिष्यों के साथ भोजन किया. इसे ‘लास्ट सपर' के नाम से जाना जाता है. जीसस ने इस भोजन के दौरान शिष्यों को रोटी दी और कहा – यह मेरा शरीर है. फिर उन्होंने शराब दी और कहा – यह मेरा खून है. ईसाइयत में इस घटना को बार बार याद किया जाता है और दोहराया जाता है. इसकी बड़ी धार्मिक अहमियत है. कुत्ते को कम्यूनियन में शामिल करने से इसीलिए लोग नाराज हैं.

घटना पिछले महीने की है. 56 साल के डोनल्ड कीथ पहली बार टोरंटो के सेंट पीटर्स चर्च में पहुंचे. उनके साथ उनका चार साल का जर्मन शेफर्ड नस्ल का कुत्ता ट्रैपर भी था. रे इस चर्च में अंतरिम पादरी के तौर पर काम करती हैं. उन्होंने दोनों का स्वागत किया. जब कीथ के कम्यूनियन का वक्त आया तो उनके पीछे पीछे ट्रैपर भी हो लिया. यह देखकर उसे समारोह में हिस्सा लेने की इजाजत दे दी गई.

कीथ ने कनाडा के अख़बार टोरंटो स्टार को बताया, “यह सब बहुत मासूमियत भरी बात थी. उस वक्त पहली कतार में एक बुजुर्ग महिला बैठी थीं. उनके चेहरे पर खुशी देखकर ही लग रहा था जो हो रहा है उसमें गलत कुछ भी नहीं.” भले ही इस घटना से कुछ लोगों के चेहरों पर मुस्कुराहट आई हो. लेकिन उस वक्त चर्च में कम से कम एक शख्स ऐसा था जिसे यह सब पसंद नहीं आया. चर्च का यह सदस्य उसी वक्त समारोह से बाहर निकल गया और उसने ही रे के खिलाफ लिखित शिकायत दर्ज कराई.

चर्च में कोई भी इस घटना पर ज्यादा बात नहीं करना चाहता. जब इस बारे में रे से बात की गई तो उन्होंने कहा कि उन्होंने चर्च को माफीनामा भेज दिया है और इसके अलावा वह कुछ भी नहीं कहना चाहतीं. उन्होंने कहा, “घटना हो चुकी है और इससे ज्यादा कहने के लिए मेरे पास कुछ नहीं है. मैं इसके बारे में कोई बात नहीं करना चाहती.” टोरंटो में एंगलीकन डायस के प्रवक्ता स्टुअर्ट मान ने भी कोई टिप्पणी करने से इनकार कर दिया.

रिपोर्टः एजेंसी/वी कुमार

संपादनः एस गौड़

DW.COM