1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

धरती के बगल से गुजरेगा एक बड़ा पिंड

सितंबर की शुरुआत में एक बड़ा पिंड पृथ्वी के पास से गुजरेगा. नासा के मुताबिक यह उसकी नजर में आया अब तक का सबसे बड़ा पिंड है. खगोलशास्त्रियों ने पिंड का नाम फ्लोरेंस रखा है.

फ्लोरेंस कहे जा रहे इस पिंड का व्यास करीब 4.34 किलोमीटर है. यह पहला मौका है जब अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने पृथ्वी के करीब से गुजरने वाले किसी इतने बड़े पिंड का पता लगाया है. अनुमान के मुताबिक फ्लोरेंस एक सितंबर को पृथ्वी के पास से गुजरेगा.

करीब से गुजरने के बावजूद धरती से इसकी दूरी करीब 70 लाख किलोमीटर होगी. लेकिन इसके बावजूद इसे "नियर अर्थ ऑब्जेक्ट" यानि धरती के करीब आने वाला ऑब्जेक्ट माना जा रहा है.

लाखों साल पहले जिस क्षुद्र ग्रह की टक्कर ने पृथ्वी के डायनासोरों का सफाया शुरू किया, वह 9 किलोमीटर व्यास वाला था. नासा के सेंटर फॉर नियर अर्थ ऑब्जेक्ट स्ट्डीज के पॉल चॉडस के मुताबिक तकनीकी विकास की वजह से फ्लोरेंस के इतने करीब से गुजरने का पता चला है.

खगोलशास्त्रियों के मुताबिक अक्टूबर में भी एक छोटा पिंड पृथ्वी के बगल से गुजरेगा. वह 44,000 किलोमीटर की दूरी से गुजरेगा. घर के आकार के बराबर बताया जा रहा यह पिंड 12 अक्टूबर को पृथ्वी के बगल से गुजरेगा.

(जिंदा रहने के लिये खुद को लगातार बदलती है पृथ्वी)

ओएसजे/आरपी (एएफपी)

 

DW.COM

संबंधित सामग्री