1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मंथन

दो मीटर मोटी दीवार कटी तब जाकर आलीशान फ्लैट बने

जर्मनी में आज भी नाजी काल के कई अंडरग्राउंड और कुछ जमीन के ऊपर बने बंकर मौजूद हैं. कुछ जगहों पर वे म्यूजियम बन चुके हैं तो कई जगहों पर कायाकल्प कर उन्हें आम लोगों के रहने लायक इमारत के रूप में ढाल दिया गया है.

म्यूनिख के श्वाबिंग डिस्ट्रिक्ट के एक चौराहे के पास खड़ी यह इमारत, नाजी काल में एक बंकर थी. 1943 में ये बंकर हवाई हमलों के दौरान 700 लोगों को सुरक्षा देने के लिए बनाया गया था. अब यह म्यूनिख की सबसे अनोखी रिहाइशी इमारतों में से एक है.

श्टेफान होएगलमायर इस बंकर में सबसे ऊपर रहते हैं. तीसरी मंजिल के ऊपर उनके पास 400 वर्गमीटर का घर है. श्टेफान खुद रियल स्टेट डेवलपर हैं. मकान की फर्निशिंग कई दशकों की मिक्स स्टाइल में है. कुछ विचित्र सी चीजें भी उन्होंने यहां रखी हैं जो इसके बंकर वाले अहसास को चुनौती देती हैं. श्टेफान ने कुछ जगहों पर जानबूझकर बिल्डिंग के पुराने लुक को सामने रखा है.

रियल स्टेट डेवलपर श्टेफान होएगलमायर को इस इमारत से पहली ही नजर में प्यार हो गया, "जब मैं पहली बार यहां आया तो इस इमारत ने मुझे मोह लिया. दीवारें दो मीटर मोटी हैं और सभी सात मंजिलों में बाहर की तरफ कोई ओपनिंग नहीं है. ऐसा अनुभव आपको आम तौर पर नहीं होता है. इमारतों में उजाला, हवा और बाहर का नजारा होता है."

और रिहायशी बनाने के लिए ऐसा इस इमारत में भी होना चाहिए था. इसके लिए उन्होंने पहले दीवारें काटकर खिड़कियां बनाईं. हर मंजिल पर चार खिड़कियां. श्टेफान ने यह इमारत सन 2010 में खरीदी थी. इसे रहने लायक बनाने के लिये 14 लोगों ने सात महीने तक मेहनत की. दो मीटर मोटी दीवारों को काटना आसान नहीं था.

हाल ही में बनाए गए टॉप फ्लोर तक ले जाने के लिए एक खूबसूरत सीढ़ी बनाई गयी. वहां से जबरदस्त नजारा दिखता है. वहां डाइनिंग एरिया और लिविंग रूम है, जो बहुत ही ज्यादा रोशन रहता है. एक तरफ जंगल है जो प्रसिद्ध इंग्लिश गार्डन से मिलता है. और मौसम साफ हो तो यहां से आप्ल्स पर्वत भी देखा जा सकता है.

पेंटहाउस की छत से म्यूनिख शहर का 360 डिग्री वाला नजारा दिखता है. बवेरिया की परंपरा के मुताबिक श्टेफान ने चीड़ की लकड़ी का एक छोटा सा कमरा भी बनाया है. बहुत ज्यादा हवा चलने या तेज धूप होने पर मेहमान यहां बैठ सकते हैं. श्टेफान और उनकी कंपनी ने इस बंकर को आधुनिक रिहाइशी इमारत बनाने में 50 लाख यूरो खर्च किए हैं. 26 मीटर ऊंची इमारत में अपार्टमेंट भी हैं और ऑफिस स्पेस भी.

इसमें बंकर नाम की गैलरी भी है. यहां समय समय पर कला और आर्किटेक्चर से जुड़ी एक्जीबिशंस भी लगती हैं. श्टेफान के लिए यह बहुत अहम है कि सारी एक्जीबिशन लोगों के लिए फ्री हों. अतीत के बंकर के भीतर एक आधुनिक घर में रहना, ये इमारत बताती है कि म्यूनिख कैसे इतिहास और वर्तमान के साथ कदम मिला रहा है.

(ऐसी जगहों पर घर बसाएंगे आप?)

शैरोन बेर्काल/ओएसजे

 

DW.COM