1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

दो बार शपथ लेंगे ओबामा

अमेरिकी राष्ट्रपति तीसरी, चौथी और आखिरी बार शपथ लेने जा रहे हैं. अमेरिकी संविधान और जनता दोनों को संतुष्ट करने की वजह से उन्हें इस बार भी दो बार शपथ लेनी है. पहली शपथ व्हाइट हाउस में होगी.

संविधान के मुताबिक राष्ट्रपति का शासनकाल 20 जनवरी को दोपहर में खत्म हो जाता है. इसके फौरन बाद नए राष्ट्रपति को शपथ लेनी होती है. इसे ध्यान में रखते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति निवास व्हाइट हाउस में एक शपथ ग्रहण समारोह होगा, जिसमें गिने चुने मेहमान शामिल होंगे. इस बार 20 जनवरी रविवार को है, लिहाजा अदालतें बंद रहेंगी. इस वजह से ओबामा को सोमवार को दोबारा शपथ लेनी होगी.

इतिहास में यह सिर्फ सातवां मौका है, जब सार्वजनिक छुट्टी की वजह से शपथ ग्रहण समारोह को इस तरह आयोजित करना पड़ा है. निजी तौर पर ओबामा के लिए यह लगातार दूसरा मौका होगा, जब उन्हें दो बार शपथ लेनी पड़ी. पिछली बार चीफ जस्टिस की गलती की वजह से उन्हें दो बार शपथ लेनी पड़ी थी. उन्होंने कई जगह "ऑफ" की जगह "ऑन" कह दिया था. इसके बाद ओबामा ने अगले दिन फिर से शपथ ली थी.

1821 से परंपरा

लगभग 200 साल से अमेरिकी इतिहास में यह परंपरा रही है कि सार्वजनिक छुट्टी के लिए सार्वजनिक शपथ ग्रहण समारोह नहीं हुआ है. 1821 में पहली बार जब जेम्स मोनरो को शपथ लेनी थी, तो उन्होंने सुप्रीम कोर्ट से राय मशविरा करके इसे अगले दिन तक के लिए टाल दिया था. तकनीकी तौर पर एक दिन के लिए अमेरिका का कोई राष्ट्रपति नहीं था. इसी तरह 1849 में भी जाखरी टेलर ने इस कार्यक्रम को एक दिन बढ़ा दिया था. इसके बाद इस बात की भी चर्चा हुई कि संसद में सबसे वरिष्ठ सांसद डेविड राइस अचीसन एक दिन के लिए अमेरिका के राष्ट्रपति माने गए.

अचीसन ने खुद इस बात का कभी दावा नहीं किया और एक इंटरव्यू में यह भी कहा कि उन्होंने शपथ भी नहीं ली थी और उस दिन तो वह पूरे दिन सोते रह गए, "संसद में तीन चार दिन बहुत ज्यादा काम था. उसके बाद रविवार को तो मैं सोता रह गया."

USA Wahl Wahltag 2012 Barack Obama als Wahlsieger

नवंबर में चुनावों में जीते ओबामा

एहतियाती शपथ

इसके बाद से चार और राष्ट्रपतियों रदरफोर्ड हेस (1877), वुडरो विल्सन (1917), ड्वाइड डी आइजनहावर (1957) और रोनाल्ड रीगन (1985) ने भी अपने शपथ ग्रहण समारोह को एक दिन के लिए आगे बढ़ाया. हालांकि इन चारों ने निजी तौर पर शपथ ले ली थी. इसी तरह ओबामा भी व्हाइट हाउस में शपथ लेने वाले हैं. अमेरिका में हर लीप वर्ष में राष्ट्रपति चुनाव होते हैं और चुना गया राष्ट्रपति अगले साल की 20 जनवरी को शपथ लेता है. पहले यह रिवायत चार मार्च को होती थी, जिसे 1933 में बदल दिया गया.

आम तौर पर अमेरिकी राष्ट्रपति बाइबिल की शपथ लेते हैं. आयोजन समिति का कहना है कि रविवार वाले शपथ ग्रहण समारोह में वह अपनी धर्मपत्नी मिशेल ओबामा के परिवार के एक बाइबिल का इस्तेमाल करने वाले हैं.

चूंकि राष्ट्रपति का काल 20 जनवरी के दोपहर तक होता है, लिहाजा ओबामा इससे ठीक पांच मिनट पहले 11:55 बजे व्हाइट हाउस में शपथ लेंगे. यह लगातार दूसरी बार है कि जब कोई राष्ट्रपति दोनों बार चुनाव जीता है. इससे पहले जॉर्ज बुश ने भी दो कार्यकाल पूरे किए. व्हाइट हाउस के कार्यक्रम में ज्यादातर पारिवारिक लोग होंगे.

पिछली बार की ही तरह इस बार भी सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस जॉन रॉबर्ट्स उन्हें पद और गोपनीयता की शपथ दिलाएंगे, जिनकी गलती से पिछली बार भी ओबामा को दो बार शपथ लेनी पड़ी थी.

एजेए/ओएसजे (रॉयटर्स)

DW.COM