1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

दूसरी पारी में भी लाजवाब दादा

आईपीएल में भले सौरव गांगुली की कोलकाता टीम से छुट्टी हो गई हो, उनकी सेहत पर असर नहीं पड़ रहा. टेलीविजन शो दादागिरी अनलिमिटेड में वह जम कर खेल रहे हैं.

default

क्रिकेटर के तौर पर सौरव लंबे अरसे से टेलीविजन के परदे पर छाए रहे हैं. लेकिन इस बार उनकी भूमिका बदल गई है. अब वह मशहूर बंग्ला टीवी शो दागागिरी अनलिमिटेड में एंकर और क्विज मास्टर के तौर पर सामने आए हैं. गांगुली कहते हैं, “अलग अलग पृष्ठभूमि से आए प्रतियोगियों के साथ आमने-सामने बैठकर बातचीत करना बेहद दिलचस्प है.”

केकेआर से नाराजगी

आईपीएल के चौथे सीजन में कोलकाता नाइट राइडर्स ने सौरव को अपने पास नहीं रखा है. इससे वह नाराज भी हैं और मायूस भी. उनको ही नहीं, राज्य के क्रिकेट प्रेमियों को भी टीम के मालिक शाहरुख खान से ऐसी उम्मीद नहीं थी. गांगुली कहते हैं, “केकेआर को मुझे सुरक्षित करने के लिए 18 लाख डॉलर देने पड़ते. शायद इसलिए उन्होंने मुझे नहीं चुना. यह एक बड़ी रकम है. टीम के पास इतना पैसा ही नहीं है कि वो मुझे बचाकर रख सके.” गांगुली को इस बात की उम्मीद है कि केकेआर नीलामी में उनको खरीदेगा. लेकिन यह भी हो सकता है कि आईपीएल-4 में वह किसी और टीम से खेलते नजर आएं.

Shah Rukh Khan Kolkata Knight Riders

केकेआर से हटाए गए दादा

क्विज मास्टर सौरव

जी बांग्ला चैनल पर प्रसारित होने वाले इस कार्यक्रम में गांगुली अपने सवालों से प्रतियोगियों को चौंकाते नजर आते हैं. यह कार्यक्रम लोगों के बीच काफी लोकप्रिय है और यह प्राइम टाइम पर दूसरे मशहूर कार्यक्रमों को चुनौती दे रहा है. सप्ताह में दो दिन गुरुवार और शुक्रवार को दादा अपने चहेतों के सामने सवालों के साथ होते हैं. इस कार्यक्रम का यह दूसरा सीजन है.

इस कार्यक्रम की लोकप्रियता का अंदाज इसी बात से लगाया जा सकता है कि इसके दूसरे सीजन के लिए राज्य के सभी 19 जिलों से 25,000 युवक ऑडिशन के लिए पहुंचे. उनमें से 800 लोगों को चुना गया.

इस शो के आयोजक जी बांग्ला के कार्यकारी उपाध्यक्ष और बिजनेस हेड सुजय कुट्टी बताते हैं, “यह शो इस बार बड़े पैमाने पर आयोजित किया जा रहा है. एक एंकर के तौर पर सौरव अब स्थापित हो चुके हैं. उनकी प्रस्तुति लगातार निखर रही है. सौरव की वजह से इस शो की लोकप्रियता लगातार बढ़ रही है.”

कार्यक्रम को लोकप्रिय बनाने के लिए चैनल ने पहले सीजन में इसमें शाहरुख खान, मिथुन चक्रवर्ती, एस श्रीसंत और इरफान पठान जैसी मशहूर हस्तियों को भी शामिल किया था.

क्रिकेट आधारित नामकरण

गांगुली अगर कोई कार्यक्रम पेश कर रहे हों तो भला वह क्रिकेट से अछूता कैसे रह सकता है. इसी को ध्यान में रखते हुए आयोजकों ने इस कार्यक्रम के विभिन्न चरणों का नामकरण सेलेक्शन, टॉस, पावर प्ले, कवर ड्राइव, गुगली और स्लॉग ओवर किया गया है.

क्रिकेटर के तौर पर आक्रामक सौरव को अपने सामने बेहद विनम्र और मजाकिया पाकर शो में शामिल होने वाले प्रतियोगी भी अचरज में पड़ जाते हैं. दादा के प्रशंसकों के लिए यह किसी सपने के सच होने की तरह है. पश्चिम मेदिनीपुर से आए 12वीं के छात्र संदीप मुखर्जी कहते हैं, “मैंने दादा को पहले कभी इतने करीब से नहीं देखा था. उन्होंने मुझसे बातचीत की और स्कूल के बारे में पूछा. यह मेरे जीवन का सबसे यादगार दिन है. दादा ने मुझे आटोग्राफ भी दिया.”

केकेआर को नुकसान

इस बीच, कई पूर्व क्रिकेटरों ने चेताया है कि इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के अगले सीजन में गांगुली को अगर केकेआर से बाहर रखा गया तो उससे कोलकाता के क्रिकेट समर्थक नाराज हो जाएंगे और टीम को इसका खामियाजा भुगतना पड़ सकता है. बंगाल के पूर्व कप्तान संबरन बनर्जी और गोपाल बोस ने कहा कि ऐसी स्थिति में शाहरुख खान की टीम मुश्किलों में घिर सकती है.

रिपोर्टः प्रभाकर,कोलकाता

संपादनः ए जमाल

DW.COM

WWW-Links