1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

दुबई में तैनात हुआ पहला 'रोबोट' पुलिस

दुबई में रोबोकॉप की तैनाती हुई है. अपने तरह के इस पहले 'रोबोट' पुलिस को एक लंबी योजना के तहत लगाया गया है. धीरे धीरे निगरानी करने वाली पुलिस के एक बड़े हिस्से को ऐसे ही ऑटोमेटाइज किया जाएगा.

यह रोबोट पुलिस वॉन्टेड अपराधियों को पहचान भी सकता है और सबूत भी इकट्ठे कर सकता है. दुबई पुलिस विभाग ने अपने पहले रोबोकॉप को प्रयोग के तौर पर तैनात किया है. अगर रोबोकॉप अपने इंसानी समकक्षों के जैसे ही सभी कामों को अंजाम दे पाता है, तो 2030 तक पुलिस विभाग अपने बल के एक चौथाई पुलिस अधिकारियों की जगह ऐसे ही रोबोट लगा देगा.

दुबई पुलिस की वर्दी पहने यह आदमकद रोबोट इंसानों जैसा ही दिखता है. दुबई एक्सपो 2020 की मेजबानी से पहले ऐसे रोबोट की मदद से शहर को और सुरक्षित बनाना चाहता है.  दुबई पुलिस के स्मार्ट सर्विसेज डिपार्टमेंट के महानिदेशक ब्रिगेडियर खालिद नासेर अल-रजूकी बताते हैं, "इस तरह के रोबोट दिन के चौबीस घंटे काम कर सकते हैं. ना तो यह छुट्टी मांगेंगे, ना बीमार पड़ेंगे और ना ही कभी मातृत्व अवकाश पर जाएंगे."

दुबई पुलिस पहले भी हाई टेक मशीनों की मदद लेती रही है. अमीर देश संयुक्त अरब अमीरात में सड़कों पर लैंबोर्गिनी और फेरारी गाड़ियां निगरानी के लिए चक्कर लगाती हैं. लेकिन पैरों की जगह चक्के लगे ऐसे पुलिसकर्मी तैनात करना, जिसमें चेहरे पहचानने वाले सॉफ्टवेयर लगे हों, एक अलग ही स्तर का प्रयोग है.

जर्मनी हो या अमेरिका, दुनिया के कई देशों में पुलिस हिंसा और पुलिस को लेकर बढ़ते अविश्वास से निपटने के रास्ते तलाशे जा रहे हैं. इस दिशा में रोबोट पुलिस एक बेहतरीन विकल्प देती है. दुबई पुलिस ने अब तक इस रोबोकॉप की कीमत नहीं बतायी है.

आरपी/एमजे (रॉयटर्स, एपी)

 

DW.COM

संबंधित सामग्री