1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

दुनिया के सबसे बुजुर्ग क्रिकेटर की मौत

एरिक टिंडिल नहीं रहे. नाम शायद सुना हुआ न लगे, लेकिन इस नाम के साथ जो इतिहास जुड़ा है वह न सिर्फ दिलचस्प है बल्कि महत्वपूर्ण भी है. यह नाम अपने अंदर टेस्ट क्रिकेट का सौ साल का इतिहास समेटे हुए है.

default

क्रिकेट इतिहास का पन्ना हैं टिंडिल

टिंडिल दुनिया के सबसे उम्रदराज टेस्ट क्रिकेटर थे. सोमवार को उनके परिवार ने बताया कि उनकी मौत हो गई है. रविवार को न्यूजीलैंड के वेलिंगटन में एक अस्पताल में उन्होंने आखिरी सांस ली. मृत्यु के वक्त उनकी उम्र थी 99 साल 226 दिन.

एरिक सिर्फ क्रिकेटर नहीं थे. वह न्यूजीलैंड के सबसे बुजुर्ग रग्बी खिलाडी़ भी थे. यही नहीं, देश के वह अकेले ऐसे व्यक्ति थे जिन्होंने क्रिकेट और रग्बी दोनों में अंतरराष्ट्रीय मैच खेले.

विकेटकीपर और बाएं हाथ के बल्लेबाज रहे टिंडिल का छोटा सा क्रिकेट करियर ड्रामे से भरा रहा. उन्होंने 1937 से 1947 के 10 साल के करियर में सिर्फ 5 टेस्ट मैच खेले. ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि इस दौरान दुनिया में दूसरा विश्व युद्ध चल रहा था.

उनके साथ एक और दिलचस्प किस्सा जुड़ा है. उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के महान क्रिकेटर डॉन ब्रैडमैन का कैच पकड़ा था. ब्रैडमैन ने न्यूजीलैंड के खिलाफ बस यही एक मैच खेला. यह मैच एडिलेड में खेला गया और ब्रैडमैन साउथ ऑस्ट्रेलिया की तरफ से खेल रहे थे.

रग्बी में भी उनका करियर मजेदार रहा. अपनी टीम न्यूजीलैंड ऑल ब्लैक्स के लिए उन्होंने कुल 16 मैच खेले. लेकिन इंग्लैंड के खिलाफ उन्होंने बस एक मैच खेला. लंदन में 1936 की जनवरी में खेले गए इस मैच में उनकी टीम 13-0 से हार गई.

खेल से संन्यास लेने के बाद टिंडिल अंपायर हो गए. उन्होंने क्रिकेट के लिए अंपायरिंग की और रग्बी के साथ वह रेफरी के तौर पर जुड़े रहे.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः ए कुमार