1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

दुनिया की सबसे लंबी सुरंग तैयार

स्विटजरलैंड के इंजीनियरों ने दुनिया की सबसे लंबी सुरंग तैयार की. एप्ल्स के बर्फीले पहाड़ों के भीतर 57 किलोमीटर लंबी सुरंग को लाइव टेलीकास्ट के साथ दुनिया के सामने पेश किया. सुरंग से जर्मनी टू इटली का शॉर्टकट बना.

default

आखिरी चरण के काम में शुक्रवार को इंजीनियर के सामने एक चट्टान आई. डेढ़ मीटर मोटी इस चट्टान को टनल बोरिंग मशीन से धराशाई करते ही उजाला दिखने लगा. इस तरह तालियों की गड़गड़ाहट के बीच सुरंग बनाने का काम पूरा हुआ. इस ऐतिहासिक पल के गवाह यूरोप के ज्यादातर देशों के परिवहन मंत्री भी बने.

पूरे पश्चिमी यूरोप में सुरंग निर्माण के आखिरी चरण का लाइव टेलीकास्ट किया गया. सुरंग को गोटहार्ड टनल का नाम दिया गया है. 35.4 मील यानी 57 किलोमीटर लंबी यह सुरंग रेल गाड़ियों के लिए बनाई गई है. सुरंग यूरोप की सबसे ऊंचे एल्प्स पहाड़ों के अंदर ही अंदर बनाई गई है. इसकी मदद से जर्मनी शॉर्ट कट से इटली से जुड़ जाएगा. प्रोजेक्ट से जुड़े अधिकारियों का कहना है कि 2017 से सुरंग में ट्रेनें 250 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से दौड़ने लगेंगी. हर रोज 300 ट्रेनें सुरंग से गुजर सकेंगी.

Flash-Galerie Das Innere der Erde

एल्प्स के पहाड़ों को भेदा

14 साल से चल रही इस बड़ी परियोजना में अब तक 10 अरब डॉलर से ज्यादा खर्च हो चुके हैं. स्विटजरलैंड के परिवहन मंत्री मोरित्स लेउएनबर्गर कहते हैं, ''दुनिया की किसी भी दूसरी सुंरग की तुलना में गोटहार्ड हमेशा ज्यादा आर्कषक रहेगी.'' गोटहार्ड प्रोजेक्ट से 2,500 लोग जुड़े रहे. निर्माण के दौरान हुई दुर्घटनाओं में आठ लोगों की मौत हुई. लेकिन शुक्रवार का दिन राह में जुदा हुई जिंदगियों को याद करने, आपस में गले लगने और जोरदार पार्टी वाला रहा.

इससे पहले सबसे लंबी सुरंग बनाने का श्रेय जापान के पास था. जापान में संमदर के भीतर 53.8 किलोमीटर लंबी सुरंग है. यह होनशु और होकाइदो द्वीपों को जोड़ती है. इसके बाद यूरो टनल का नंबर आता है. 50 किलोमीटर लंबी यूरो टनल भी समुद्र के अंदर ही अंदर फ्रांस और ब्रिटेन को जोड़ती है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ओ सिंह

संपादन: ए कुमार

DW.COM

WWW-Links

संबंधित सामग्री