1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

दीवाली में रोशनी से नहाया भारत

भारत और आस पास दीवाली की रात जगमग हो उठी. मिट्टी के दीपों और कृत्रिम रोशनी ने दिन से ज्यादा उजाला पैदा कर दिया. रंगोलियां बनीं और रोशनी के पर्व पर लोगों ने एक दूसरे को बधाइयां दीं. पर शेयर बाजार में रोशनी नहीं चमकी.

मंगलवार को जहां पूरा भारत एक तरफ रोशनी का त्योहार मना रहा था, उत्तर प्रदेश के ओरैया जिले में एक परिवार पर दीवाली कहर बन कर टूटी. यहां एक घर में अवैध तरीके से पटाखे बन रहे थे. अचानक विस्फोट हुआ और परिवार के छह सदस्यों सहित आठ लोगों की जान चली गई.

उधर पाकिस्तानी सरहद पर भारतीय और पाकिस्तानी जवानों ने एक दूसरे को मिठाइयां बांटी. पाकिस्तान में ही राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी ने भारतीय प्रांत बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के लिए दीवाली के मौके पर विशेष रात्रि भोज का आयोजन किया. नीतीश कुमार पाकिस्तान की यात्रा पर हैं. उधर, दुनिया से दूर गहरे अंतरिक्ष में भारतीय मूल की अंतरिक्ष यात्री सुनीता विलियम्स ने भी दीवाली पर लोगों को अनंत आकाश से शुभ कामनाएं दीं.

भारत में लोगों ने एक दूसरे को दीवाली की शुभ कामनाएं दीं और मिठाइयां बांटी. लोगों ने एक दूसरे के घर जाकर बधाई दी और सोशल मीडिया वेबसाइटों पर भी लोगों की बधाइयों का तांता लगा रहा. पर्यावरण के प्रति जागरूक हो रहे भारतीयों ने फेसबुक और ट्विटर के जरिए लोगों से अपील की कि वे कम से कम पटाखे चलाएं, जिससे पर्यावरण को नुकसान न पहुंचे. अमृतसर में सिखों के धार्मिक स्थल स्वर्ण मंदिर को खास रोशनी से सजाया गया. भारत के दूसरे हिस्सों में भी मंदिरों को दीपों से सजाया गया.

फिल्मों के लिए यह दीवाली खास रही. बॉलीवुड ने यश चोपड़ा की आखिरी फिल्म 'जब तक है जान' को रिलीज किया, जबकि अजय देवगन की 'सन ऑफ सरदार' भी मंगलवार को ही रिलीज हो गई. आम तौर पर फिल्में शुक्रवार को रिलीज होती हैं. तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई में भी सिनेमाघर भरे रहे, जहां दो फिल्में रिलीज हुई हैं.

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने लोगों को इस मौके पर बधाई दी और कहा कि रोशनी का पर्व लोगों में उत्साह भरता है.

भारतीय शेयर बाजार सेंसेक्स में दीवाली के मौके पर खास कारोबार होता है, जिसे मुहूर्त बाजार कहते हैं. लेकिन इस बार यहां मंदी देखने को मिली. संवत 2069 का पहला कारोबारी दिन 52 अंकों के नुकसान के साथ बंद हुआ. इसके साथ ही 2007 के बाद यह पहला मौका रहा, जब मुहूर्त बाजार में मंदी देखने को मिली. मंगलवार को बाजार बंद था लेकिन दोपहर 15.45 से शाम पांच बजे तक खास सौदेबाजी हुई. दीवाली को लक्ष्मी यानी धन की देवी का पर्व भी माना जाता है.

एजेए/ओएस (एएफपी, पीटीआई)

DW.COM

WWW-Links