1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

दिल्ली में बीजेपी भारी जीत की ओर, आप ने बताया 'ईवीएम लहर'

दिल्ली में नगर निगम चुनावों के वोटों की गिनती हो रही है और भारतीय जनता पार्टी बड़ी जीत की तरफ बढ़ रही है. अब तक के नतीजे और रुझानों में राजधानी के तीनों निगमों में बीजेपी की स्पष्ट जीत दिखायी दे रही है.

नगर निगम चुनावों में दिल्ली की सत्ताधारी आम आदमी पार्टी बहुत पीछे है. पार्टी ने इन नतीजों के लिए फिर इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) पर सवाल उठाया है. पार्टी के अनुसार यह मोदी लहर नहीं बल्कि 'ईवीएम लहर' है. तीसरे नंबर पर कांग्रेस है.

टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक रुझान और नतीजों में उत्तरी दिल्ली में भाजपा को 66, दक्षिणी दिल्ली में 70 और पूर्वी दिल्ली में 41 सीटें मिलती दिख रही हैं. वहीं आम आदमी पार्टी ने उत्तरी दिल्ली में 18, दक्षिणी दिल्ली में 15 और पूर्वी दिल्ली में 11 सीटें जीत ली हैं या बढ़त बनाये हुए है. कांग्रेस को एमसीडी चुनावों में तीसरे नंबर से संतोष करना होगा. पार्टी को उत्तरी दिल्ली में 14, दक्षिणी दिल्ली में 12 और पूर्वी दिल्ली में 6 सीटों पर सफलता मिलने के संकेत हैं.

आम आदमी पार्टी के नेता गोपाल राय ने इन नतीजों पर टिप्पणी करते हुए कहा है, "यह मोदी लहर नहीं है. यह ईवीएम लहर है. यह वही लहर है जिसका इस्तेमाल बीजेपी ने उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और पंजाब के चुनावों में किया है." पार्टी हालिया विधानसभा चुनावों के बाद से ईवीएम में गड़बड़ी होने का आरोप लगाती रही है.

दूसरी तरफ, कभी आम आदमी पार्टी में रहे योगेंद्र यादव ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का इस्तीफा मांगा है. वह एमसीडी चुनाव में अपनी पार्टी स्वराज इंडिया के साथ मैदान में उतरे थे. लेकिन मतदाताओं पर कोई खास असर नहीं छोड़ पाए.

कांग्रेस के निराशाजनक प्रदर्शन पर पार्टी नेता और दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का कहना है कि पार्टी को और आक्रामक तरीके से प्रचार करना चाहिए था. उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें चुनाव प्रचार के लिए आमंत्रित नहीं किया गया था.

वहीं जीत से गदगद बीजेपी का कहना है कि मतदाताओं के पास बीजेपी के अलावा और कोई विकल्प ही नहीं बचा है. केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा, "अब लोगों के पास सिर्फ बीजेपी ही ढंग का विकल्प बची है इसलिए लोग उसे हर स्तर पर इस तरह का जनादेश दे रहे हैं."

अशोक कुमार

DW.COM

संबंधित सामग्री