1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

दिल्ली में पाकिस्तानी उच्चायुक्त तलब

पाकिस्तान ने भारत के सैनिकों के साथ अमानवीय बर्ताव से इनकार किया है. नियंत्रण रेखा पर दो फौजियों के मारे जाने के बाद दिल्ली में पाकिस्तानी उच्चायुक्त को तलब किया गया.

भारत ने पाकिस्तानी उच्चायुक्त सलमान बशीर को विदेश मंत्रालय मे तलब कर दो सैनिकों की हत्या पर कड़ा विरोध जताया है. भारत के विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने कहा कि पाकिस्तानी उच्चायुक्त से कड़े शब्दों में बात की गई है, लेकिन साथ ही उन्होंने तनाव बढ़ाने के खिलाफ चेतावनी दी है. "जो कुछ हुआ है, उसे भड़काना नहीं चाहिए." उन्होंने कहा कि भारत ने पाकिस्तान से इस मामले की जांच कर जवाब देने को कहा है. भारत ने सैनिकों की हत्या को "अत्यंत उकसावापूर्ण" बताया और मारे गए सैनिक का सिर काटने को अमानवीय कहा है. भारतीय सूत्रों के अनुसार सैनिक मेंधार के निकट भारतीय सीमा में गश्त पर थे, जब उन पर हमला किया गया.

भारतीय सेना ने बुधवार को अपने सैनिकों की हत्या को संघर्ष विराम के उल्लंघन और पाक सेना की मदद से घुसपैठ में महत्वपूर्ण तेजी बताया. पाकिस्तान ने बिना उकसावे के हमले के आरोप से तुरंत इनकार कर दिया. एक पाकिस्तानी सैनिक अधिकारी ने कहा, "यह भारतीय प्रोपेगैंडा जैसा दिखता है जिसका लक्ष्य रविवार को पाकिस्तानी चौकी पर भारतीय हमले से ध्यान बंटाना है जिसमें एक पाकिस्तानी सैनिक मारा गया था."

बीजेपी ने भारतीय सैनिकों की हत्या की निंदा की है. विपक्षी पार्टी ने इसे भारत के लिए चेतावनी बताया है और भारत सरकार से सारे तथ्यों को अंतरराष्ट्रीय समुदाय के सामने रखने को कहा है. बीजेपी नेता अरुण जेटली ने सरकार से पाकिस्तान के साथ संबंधों में किए जाने और न किए जाने की स्पष्ट व्याख्या करने को कहा है.

भारत और पाकिस्तान इस समय पारस्पिरक रिश्तों को सामान्य बनाने की कोशिश कर रहे हैं. मुंबई पर हुए 26/11 वाले आतंकवादी हमले के बाद पाकिस्तानी क्रिकेट पहली बार भारत दौरे पर आई.

आजादी के बाद से दोनों देशों में कश्मीर को लेकर विवाद है. इस पर दोनों देश चार लड़ाइयां लड़ चुके हैं. 2008 में मुंबई पर पाकिस्तानी आतंकवादियों के हमले में 166 लोग मारे गए. भारत तब से पाकिस्तान से आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग कर रहा है.

Pakistans Außenminister Salman Bashir

सीमा पर हो रही झड़पों और भारतीय सैनिकों की हत्या में बर्बरता के बाद अमेरिका ने उम्मीद जताई है कि दोनों पड़ोसी इलाके में शांति और स्थायित्व के लिए साथ मिल कर काम करेंगे.

अमेरिकी रक्षा मंत्रालय के प्रेस सचिव जॉर्ज लिटल ने कहा, "हम सबको उम्मीद है कि हमारे पाकिस्तानी और भारतीय सहयोगी इलाके में शांति और स्थिरता बनाए रख पाएंगे." लिटल ने कहा कि दोनों देशों के बीच ऐतिहासिक तनाव के मसले को रक्षा मंत्री लियोन पैनेटा जानते हैं.

रिश्तों को सुधारने की महीनों की कोशिशों के बाद रविवार को कश्मीर में सीमा पर पहली बार गोलियां चलीं. पाकिस्तान ने भारत पर एक चौकी पर हमला करने और एक सैनिक को मारने का आरोप लगाया. भारतीय सेना ने इसका खंडन किया और कहा कि पाकिस्तानी सैनिकों ने पांच घंटे तक एक भारतीय चौकी पर गोलीबारी की. भारतीय सेना का कहना है कि पिछले साल नियंत्रण रेखा पर झड़पों के 75 मामले हुए. इनमें आठ भारतीय सैनिकों की जान गई.

एमजे/एजेए (रॉयटर्स, पीटीआई)

DW.COM

WWW-Links

संबंधित सामग्री