1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

दिल्ली पहुंचे कर्नाटक की जंग के योद्धा

कर्नाटक विधान सभा में सोमवार को बीजेपी ने विवादास्पद विश्वास मत हासिल कर लिया. इसके बाद वहां की जंग दिल्ली के गलियारों में पहुंच गई है. और इसे लड़ने के लिए कर्नाटक के योद्धा भी यहां आ पहुंचे हैं.

default

कर्नाटक के मुख्यमंत्री येदियुरप्पा

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा मंगलवार को अपने दल बल के साथ दिल्ली पहुंच रहे हैं. वह सभी विधायकों के साथ राष्ट्रपति प्रतिभा पाटील से मुलाकात करेंगे और बहुमत दिखाएंगे. सूत्रों का कहना है कि येदियुरप्पा को राष्ट्रपति से मिलने के लिए देर शाम तक इंतजार करना पड़ सकता है क्योंकि राष्ट्रपति फिलहाल पुणे में हैं.

बैंगलोर एयरपोर्ट पर दिल्ली के लिए रवाना होने से पहले येदियुरप्पा ने पत्रकारों से कहा, "बीजेपी के सभी विधायक और कर्नाटक के सभी बीजेपी सांसद दिल्ली जा रहे हैं. नितिन गडकरी, सुषमा स्वराज और एलके आडवाणी के नेतृत्व में हम राष्ट्रपति से मिलेंगे और उन्हें सारी बात बताएंगे. हम प्रधानमंत्री और गृह मंत्री से भी मिलेंगे."

सोमवार को विधान सभा अध्यक्ष केजी बोपैया ने पार्टी के 11 विधायकों समेत कुल 16 बागी विधायकों को अयोग्य करार दे दिया था. इस वजह से विधान सभा में सदस्यों की संख्या घटकर 208 रह गई. बीजेपी का कहना है कि उसके साथ 106 विधायक हैं और नई संख्या के मुताबिक उसे बहुमत के लिए 104 विधायकों की ही जरूरत है.

इसके बाद राज्यपाल हंसराज भारद्वाज ने राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की सिफारिश कर दी है. कर्नाटक बीजेपी और पार्टी का केंद्रीय नेतृत्व राज्यपाल को हटाने की मांग कर रहा है. सूत्रों के मुताबिक येदियुरप्पा राष्ट्रपति के सामने अपनी इस मांग को दोहरा सकते हैं. इस बीच बीजेपी का केंद्रीय नेतृत्व पार्टी अध्यक्ष नितिन गडकरी के नेतृत्व में एलके आडवाणी के घर पर एक बैठक में सारी स्थिति की समीक्षा करेगा और आगे की रणनीति तय करेगा. कर्नाटक के संकट को संभाल रहे बीजेपी नेता एम वेंकैया नायडु पार्टी नेतृत्व को सारी स्थिति से अवगत कराएंगे.

उधर केंद्रीय कैबिनेट भी मंगलवार को एक बैठक कर रही है. इस बैठक में कर्नाटक के मुद्दे पर बातचीत होने की संभावना है.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः उज्ज्वल भट्टाचार्य

DW.COM

WWW-Links