1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

दार्जिलिंग में गोरखा नेता मदन तामंग की हत्या

दार्जिलिंग में गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के समर्थकों ने गोरखा लीग के अध्यक्ष मदन तामंग की हत्या की. तामंग मोर्चा के विरोधक थे. घटना के बाद दार्जिलिंग में भारी तनाव.

default

पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग पर्वतीय क्षेत्र में अलग गोरखालैंड राज्य की मांग में आंदोलन करने वाले गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के समर्थकों ने शुक्रवार की सुबह दार्जिलिंग में अखिल भारतीय गोरखा लीग के अध्यक्ष मदन तामंग की खुकरी (धारदार हथियार) घोंपकर हत्या कर दी.

मदन वहां एक सभा की तैयारियों में व्यस्त थे. उसी समय मोर्चा समर्थकों ने उन पर हमला कर उनको बुरी तरह घायल कर दिया. वहां दोनों दलों के समर्थकों को खदेड़ने के लिए पुलिस को हवा में पांच राउंड फायरिंग करनी पड़ी. तामंग की हत्या की खबर फैलते ही पहाड़ियों में भारी तनाव पैदा हो गया है. पूरा इलाका बंद है और वहां अघोषित कर्फ्यू जैसा नजारा है.

तामंग इलाके में मोर्चा का विरोध कर रहे थे. उनका कहना था कि मोर्चा ने अलग राज्य की मांग में आंदोलन शुरू किया था. लेकिन भीतर ही भीतर वह केंद्र व राज्य सरकार के साथ अंतरिम व्यवस्था पर बातचीत कर रहा है. मदन पर हमला सुबह साढ़े नौ बजे हुआ. इस हमले में गंभीर रूप से घायल गोरखा नेता को दार्जिलिंग ज़िला अस्पताल में दाखिल कराया गया. लेकिन अधिक खून बह जाने के कारण उन्होंने कुछ ही देर में दम तोड़ दिया.

इधर, नगर विकास मंत्री और दार्जिलिंग ज़िले के वरिष्ठ माकपा नेता अशोक भट्टाचार्य ने कोलकाता में कहा कि मदन तामंग पर हमला गोरखा मोर्चा के समर्थकों ने किया. उन्होंने कहा कि मोर्चा के गुंडों ने मदन की हत्या कर दी है. मोर्चा तानाशाह बन गया है और वह पहाड़ियों में अपने विरोध में उठने वाली किसी आवाज को सहन नहीं कर सकता. अशोक ने आरोप लगाया कि मोर्चा लोकतंत्र विरोधी है. मंत्री ने कहा कि हम इस घटना से काफी चिंतित हैं. पहाड़ियों में परिस्थिति बेहद गंभीर है.

तामंग पर हमले की खबर मिलते ही मुख्यमंत्री बुद्धदेव भट्टाचार्य ने यहां राज्य सचिवालय राइटर्स बिल्डिंग में एक आपात बैठक बुला कर हालात की समीक्षा की और पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों को परिस्थिति काबू में रखने के लिए हर संभव उपाय करने का निर्देश दिया. दार्जिलिंग पर्वतीय इलाके में आम जनजीवन पूरी तरह ठप हो गया है. हर ओर बंद-सा नजारा है. सड़कों पर वाहन भी नजर नहीं आ रहे हैं. मदन तामंग की हत्या के बाद इलाके में हिंसा भड़कने का अंदेशा पैदा हो गया है. तामंग ने हाल ही में गोरखा मोर्चा के प्रमुख विमल गुरुंग के खिलाफ भ्रष्टाचार के भी आरोप लगाए थे. उसके बाद मोर्चा समर्थकों ने तामंग को पहाड़ियों से गायब करने की धमकी दी थी.

रिपोर्टः प्रभाकर, कोलकाता (संपादनःआभा मोंढे)

संबंधित सामग्री