1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

दादा के अभी बंद नहीं हुए आईपीएल के दरवाजे

आईपीएल-4 में पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली और वसीम जाफर के खेलने की संभावना बनी हुई है. टी20 लीग की गवर्निंग काउंसिल ने नीलामी में न बिकने वाले खिलाड़ियों का भाग्य तय करने के लिए खास बैठक बुलाई.

default

8 और 9 जनवरी को हुई खिलाड़ियों की नालामी में आईपीएल की किसी टीम ने गांगुली को खरीदने में दिलचस्पी नहीं दिखाई. उनकी बेस कीमत चार लाख डॉलर रखी गई. इसी तरह जाफर और वीआरवी सिंह को भी कोई टीम नसीब नहीं हुई. विश्वस्त सूत्रों का कहना है, "4 फरवरी को गवर्निंग काउंसिल की बैठक बुलाई गई है जिसमें बोली के दौरान न बिकने वाले गांगुली जैसे खिलाड़ियों पर चर्चा होगी. कोच्चि ने बोली से बाहर उन्हें खरीदने में दिलचस्पी दिखाई है और आईपीएल ने फ्रैंचाइजियों से इस बारे में अपनी राय देने को कहा है."

सभी फ्रैंचाइजियों को भेजे पत्र में आईपीएल ने कहा है कि फ्रैंचाइजियों की तरफ से आग्रह प्राप्त हुआ जिसके मुताबिक उनके पास किसी खिलाड़ी की आरक्षित कीमत अदा करने के लिए पर्याप्त धन है, इसलिए उन्हें बोली के दौरान न बिकने वाले खिलाड़ियों से अनुबंध करने का मौका दिया जाए.

आईपीएल के सीईओ सुंदर रामन की तरफ से भेजे दए पत्र में आगे कहा गया है, "नीलामी के नियम बडे़ साफ है, बोली के दौरान न बिकने वाले खिलाड़ी आईपीएल 2011 में सिर्फ दूसरे खिलाड़ियों की जगह खेल सकते हैं. इस विषय में गवर्निंग काउंसिल की तरफ से कोई निर्देश आने से पहले मैं आपसे इस बारे में राय मांगता हूं और क्या आपकी फ्रैंचाइजी इस बात से सहमत है कि नीलामी में न बिकने वाले खिलाड़ियों को खरीदने की अनुमति किसी फ्रैंचाइजी को दी जानी चाहिए और क्या खिलाड़ी को सिर्फ उसके आरक्षित मूल्य पर ही खरीदा जा सकता है."

रामन ने कहा है कि फ्रैंचाइजियों को अपनी राय गवर्निंग काउंसिल की बैठक से एक दिन पहले भेज देनी चाहिए.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः एमजी

DW.COM

WWW-Links