1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

दांव पर लगा शाही बच्चा

प्रिंस विलियम और कैथरीन के होने वाले बच्चे का इंतजार ब्रिटेन के सट्टेबाजों की चांदी कर रहा है. दुनिया भर में लोग सट्टा लगा रहे हैं कि लड़की पैदा होगी और उसका नाम एलेक्जैंड्रा होगा.

डेविड बेकहम का कहना है कि बच्चे का नाम उन पर रखा जाना चाहिए. सट्टेबाज शाही बेबी के नाम पर दांव लगा रहे हैं और तारीख पर भी. अभी तक उनके नाम पर खेल से भी ज्यादा पैसा लग चुका है, 10 लाख डॉलर यानी करीब नौ अरब रुपये. ब्रिटिश सट्टेबाज कंपनी कोरल ने कहा, "हमने पोप, रियालिटी टीवी सब किया है लेकिन अभी तक का ये सबसे ज्यादा का सट्टा है. और यह बढ़ रहा है. जितने दिन चलेगा उतना कवरेज होगा." कोरल कंपनी ने ही पांच लाख पाउंड से ज्यादा का सट्टा रॉयल बेबी पर लिया है. सट्टेबाजी कंपनी विलियम हिल का कहना है कि उन्होंने 100 देशों के दांव लगाने वालों से एक लाख पाउंड लिए हैं.

ऑस्ट्रिया के सट्टेबाजों ने 1000 पाउंड लड़के पर लगा दिया है, जो बेतुका माना जा रहा है क्योंकि केट ने एक बार अपने होने वाले बच्चे के बारे में बोलते हुए "डॉटर" शब्द बोलने की कोशिश की थी, हालांकि शब्द पूरा होने से पहले ही वह रुक गई थीं. एलेक्जैंड्रा नाम पर सट्टा लगाने वालों की संख्या बहुत है. क्योंकि यह महारानी एलिजाबेथ का एक नाम है.

दूसरे नाम जो रेस में चल रहे हैं उनमें शार्लोटे, विक्टोरिया, एलिजाबेथ और डायना हैं. और लड़कों के नाम जेम्स और जॉर्ज सबसे आगे हैं. एक टिप लुई की भी है. यह विलियम का नाम तो है ही उनके पिता चार्ल्स के मेंटर लुई माउंटबेटन का नाम भी है. वह भारत के आखिरी वाइसरॉय थे. 1979 में आयरिश रिपब्लिकन आर्मी ने उनकी हत्या कर दी थी.

लोग इतने दीवाने हैं कि वह बच्चे के वजन, रंग रूप पर भी सट्टा लगा रहे हैं. यह भी कि बच्चा शाम में ही पैदा होगा.

Schwangere Frau am Strand

पहले बच्चे का लिंग नहीं जानना चाहती महिलाएं

पहले नहीं चाहते

प्रिंस विलियम और केट के जैसे बहुत से आम लोग हैं जो नहीं जानना चाहते कि उनका बच्चा लड़का होगा या लड़की. 2007 में किए गए एक सर्वे में 1014 दंपतियों से पूछा गया कि क्या वे बच्चे के लिंग के बारे में जानना चाहेंगे. इनमें से 51 फीसदी लोग जानना चाहते थे जबकि 47 फीसदी नहीं.

नहीं जानने के कारण अलग अलग हो सकते हैं लेकिन इससे जुड़े सिरदर्द एक जैसे हैं, "अगर बात कपड़ों की हो तो हमारे माता पिता कुछ ही मिनटों में जाकर कपड़े खरीद सकते हैं. हरे, पीले, नारंगी लड़कों के लिए अच्छे हैं."

बहरहाल लड़का है या लड़की, कब होगा कैसे होगा, नाम क्या होगा पर सट्टे का बाजार तो बेबी के आने तक गर्म ही रहेगा.

एएम/एजेए (एएफपी, एपी, डीपीए)

DW.COM