1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

दांबुला में टीम इंडिया और श्रीलंका की टक्कर

अभ्यास के लिए मिले खराब पिच पर धोनी बरस रहे हैं लेकिन सामने खड़े श्रीलंकाई शेर अब भी ये मानने को तैयार नहीं हैं कि धोनी की सेना तैयारियों में कमज़ोर है. आज का दिन तय कर देगा कौन कितने पानी में है.

default

रैना पर रहेंगी नजरें

टीम इंडिया जब मैदान पर उतरेगी तो उस पर पिछले मैच में लगे बल्लेबाजी के कलंक को धोने की चुनौती होगी. इस बीच धोनी ने पिच पर अपना गुस्सा दिखाकर कुछ और सुर्खियां भी बटोर ली हैं. मैच से पहले कप्तान धोनी अभ्यास के लिए मिले खराब पिच पर एक बार फिर बरसे और कहा कि मौसम की मेहरबानी हो तो ही शायद अभ्यास के लिए थोड़ा वक्त मिले. धोनी ने इस बात के भी संकेत दिए कि रवींद्र जडेजा की जगह एक बल्लेबाज़ को लिया जा सकता है. धोनी ने कहा कि जडेजा गेंदबाजी ठीक कर रहे हैं और जब तक उनकी गेंद विकेट चटकाती रहेगी उनकी जगह बनी रहेगी. धोनी ने कहा "अगर ऐसा नहीं हुआ तो हमें एक बल्लेबाज़ को टीम में शामिल करना पड़ेगा क्योंकि हम पहले से ही पांच गेंदबाज़ो के साथ खेल रहे हैं."

पिछले मैच में एक साथ धराशायी हुए बल्लेबाजों की दास्तान तो सबने देखी ही है शायद यही वजह है कि धोनी फूंक-फूंक कर कदम रख रहे हैं. धोनी ने उम्मीद जताई है कि युवा खिलाड़ियों ने ज्यादा उछाल वाली पिचों का अनुभव ले लिया है और शायद इस बार के मैच में वैसी दुर्दशा न हो. धोनी के मुताबिक इशांत शर्मा की जगह लेने आए मुनाफ पटेल भी मैदान में उतर सकते हैं. धोनी ने माना कि खिलाड़ियों पर ज्यादा खेल के कारण दबाव बढ़ गया है और बारी बारी से खिलाड़ियों को बदलने की जरूरत है.

Mahendra Singh Dhoni Cricketspieler

धोनी को जीत की उम्मीद

उधर श्रीलंकाई कप्तान कुमार संगकारा ने कहा है कि भले ही टीम इंडिया अभ्यास सत्र का पूरा फायदा नहीं ले सकी हो लेकिन उनकी तैयारियां कमज़ोर नहीं हैं. संगकारा ने कहा, "वनडे और टी20 मैचों में इस बात से फर्क नहीं पड़ता कि आपने मैच के एक दिन पहले अभ्यास किया है या नहीं. सीधे मैच में भी अच्छा प्रदर्शन किया जा सकता है. हम जानते हैं कि भारतीय टीम कितनी खतरनाक है इसलिए हमें क्या करना है उसके बारे में हमें कोई गलतफहमी नहीं है. उन्हें हराने के लिए हमें पूरी सावधानी के साथ खेलना होगा."

संगकारा का कहना है कि ज़हीर खान की गैरमौजूदगी में भी भारत के तेज़ गेंदबाज़ों ने इस दौरे पर अच्छा प्रदर्शन किया है. संगकारा ने साफ कहा "सभी भारतीय गेंदबाज़ अच्छे हैं और इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि अभिमन्यु मिथुन जैसे गेंदबाजों के पास कितना कम अनुभव है. अभिमन्यु मिथुन ने टेस्ट में भी अच्छी गेंदबाजी की और पहले वनडे मैच में भी उसने कोई गलती नहीं की."

श्रीलंकाई कप्तान ने भी माना कि खिलाड़ियों पर ज्यादा क्रिकेट का दबाव है और चयनकर्ताओं को इस बात को ध्यान में रखकर खिलाड़ियों को चुनना चाहिए.

तो बिसात बिछ गई है एक तरफ पहले मैच में न्यूज़ीलैंड से करारी शिकस्त झेल चुकी टीम इंडिया है जिसके तरकश से तेंदुलकर, युवराज और गौतम गंभीर गायब हैं. दूसरी तरफ न्यूज़ीलैंड को ही हराकर उत्साह से भरे श्रीलंकाई शेर, जिनकी मार पैनी दिख रही है और जो अपनी मांद में भी हैं.

रिपोर्टः एजेंसियां/ एन रंजन

संपादनः ए जमाल

WWW-Links