1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

दवा खाना भूले तो डॉक्टर को फौरन पता चलेगा

घर पर अगर मरीज दवा खाना भूलेगा तो डॉक्टरों को तुरंत पता चल जाएगा. अमेरिका में दवा को ट्रैक करने वाली कैप्सूल को मंजूरी दे दी गई है.

अमेरिका के फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) ने शरीर में दवा को ट्रैक करने वाली पहली कैप्सूल को मंजूरी दे दी है. एबिलिफाई माइसाइट नाम की इस कैप्सूल के भीतर एक डिजिटल सेंसर है. कैप्सूल को अवसाद, शिजोफ्रेनिया और बाइपोलर डिसऑर्डर से जूझ रहे लोगों को खिलाया जाएगा. पेट में मौजूद तरल से मिलते ही कैप्सूल के भीतर छुपा सेंसर एक्टिवेट हो जाएगा. अगर मरीज दवा खाना भूलेगा तो सेंसर कलाई पर बंधे पैच को अलर्ट करेगा और पैच इसकी जानकारी स्मार्टफोन के ऐप पर भेजेगा.

इस इंसान पर कोबरा का जहर भी बेअसर

सुपरबग का अड्डा बनी भारत की जहरीली झील

डॉक्टर के साथ मरीज के चार करीबी परिजन या मित्र इस जानकारी को देख सकेंगे. एफडीए के साइकेट्री प्रोडक्ट्स के डायरेक्टर मिचेल मैटिस के मुताबिक, "दिमागी बीमारी से जूझ रहे कुछ मरीजों ने दवा खायी हैं या नहीं, यह अब ट्रैक किया जा सकेगा."

कैप्सूल जापान की दवा कंपनी ओत्सुका फार्मास्यूटिकल्स ने बनाई है. न्यूयॉर्क के जकर हिलसाइड अस्पताल के वरिष्ठ डॉक्टर स्कॉट कारकोवर ऐसी कैप्सूल को बड़ी राहत मान रहे हैं, "यह हमारे कई मरीजों के लिए वाकई मददगार हो सकती है. कुछ लोग दवा खाना भूल जाते हैं."

लेकिन डॉक्टर कारकोवर सतर्क रहने की सलाह भी दे रहे हैं. वह कहते हैं कि कुछ मामलों में मरीज की निजता नहीं रहेगी, "साथ ही लोग इलाज की जिम्मेदारी खुद लेने के बजाए एक मशीन पर निर्भर रहने लगेंगे."

(एंटीबायोटिक खाने के कायदे)

ओएसजे/एमजे (एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री