1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

दक्षिण कोरिया ने शुरू की हथियारों की परेड

उत्तर कोरिया की गोलाबारी के खिलाफ अपना रुख सख्त करते हुए दक्षिण कोरिया ने तटीय इलाकों में हथियारों की परेड शुरू कर दी है. दक्षिण कोरिया ये जताना चाहता है कि अगर फिर उसे उकसाया गया तो वो मुंहतोड़ जवाब देगा.

default

दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति ली म्यूंग बाक ने उत्तर कोरियाई हमले के बाद नरम रुख दिखाने पर विपक्ष की आलोचना के बाद अपने तेवर सख्त कर लिए हैं. इस हमले में दो नागरिक और दो सैनिकों की मौत हुई थी.

समाचार एजेंसी योन्हाप से आ रही खबरों के मुताबिक दक्षिण कोरिया के नए रक्षा मंत्री किम क्वान जिन ने कहा है कि उनके देश की सेना," कड़े कदम उठाने जा रही है जिससे कि उत्तर कोरिया दोबारा कभी उन्हें उकसाने की हिमाकत न करे." सेना के पूर्व चार सितारा जनरल किम ने शनिवार को रक्षा मंत्रालय की कमान संभाली. पूर्व रक्षा मंत्री टाइ योंग ने उत्तर कोरियाई गोलाबारी का माकूल जवाब ने दे पाने पर विपक्ष और सत्ताधारी सांसदों की आलोचना के बाद तीन दिन पहले इस्तीफा दे दिया.

NO FLASH nordkoreanischen Beschuss der südkoreanischen Insel Yonpyong

सोमवार को एक साथ 29 जगहों पर गोलाबारी का अभ्यास शुरू किया गया. सेना के ज्वाइंट चीफ स्टाफ के दफ्तर के एक अधिकारी ने बताया कि देश के तीन तटों पर एक साथ गोलाबारी का अभ्यास शुरू किया गया है. पीले सागर में विवादित सीमा के पास दक्षिण कोरिया ने सैनिक हलचल बढ़ा दी है. ये वो जगह है जहां दोनों देशों की नौसेना के बीच पहले भी भिड़ंत होती रही है.

नवंबर महीने में 23 तारीख को उत्तर कोरिया ने जिस इलाके पर गोलाबारी की थी वहां कोई सैनिक कार्रवाई नहीं शुरू की गई है. ज्वाइंट चीफ स्टाफ के मुताबिक इस इलाके के नागरिकों की सुरक्षा को ध्यान में रख कर ऐसा किया गया है. उत्तर कोरिया ने दक्षिण कोरिया की इस कार्रवाई की आलोचना करते हुए इन कदमों को भड़काऊ और जंग की शुरुआत करने वाला बताया है. नौसेना का युद्धाभ्यास शुक्रवार तक चलेगा.

रिपोर्टः एजेंसियां/एन रंजन

संपादनः आभा एम

DW.COM

संबंधित सामग्री