1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

दक्षिण अफ्रीकी पिचों से अनजान नहीं हैं खिलाड़ी: धोनी

टीम इंडिया के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने भरोसा जताया है कि दक्षिण अफ्रीका में खेलने का अनुभव खिलाड़ियों के काम आएगा. दक्षिण अफ्रीका में आईपीएल और चैंपियंस लीग खेल चुके हैं कई युवा भारतीय खिलाड़ी. गुरुवार से पहला टेस्ट.

default

टीम इंडिया के कप्तान धोनी

कप्तान धोनी का कहना है कि परिस्थतियों में खुद को ढाल पाना खिलाड़ियों के लिए अहम रहेगा. "मुझे लगता है कि पहले की तुलना में इस बार हम ज्यादा अच्छी तरह तैयार हैं क्योंकि हमारे खिलाड़ियों ने दक्षिण अफ्रीका में आईपीएल और चैंपियंस लीग खेली है. वे यहां की परिस्थितियों से अनजान नहीं हैं." भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीन टेस्ट मैचों की सीरीज का पहला टेस्ट सेंचुरियन में गुरुवार से शुरू हो रहा है.

धोनी ने अपने खिलाड़ियों को गुरुमंत्र देते हुए ध्यान केंद्रित रखने और जबरदस्त तैयारी के साथ मैदान पर उतरने के लिए कहा है. 2009 में आम चुनाव के चलते आईपीएल का दूसरा संस्करण भारत से बाहर दक्षिण अफ्रीका में कराया गया और इस साल के शुरू में यहां चैंपियंस लीग का भी आयोजन हुआ. दक्षिण अफ्रीका भारत के बल्लेबाजों के लिए मुश्किल खड़ी करने के लिए तेज रफ्तार और उछाल वाली पिचें तैयार कर रहा है.

धोनी ने कहा है कि उनसे बार बार पूछा जाता है कि भारतीय बल्लेबाज तेज गेंदों का सामना कैसे करेंगे. "मेरा जवाब है कि हमें शॉर्ट पिच गेंदों से कोई डर नहीं है. हमारी टीम के अधिकतर खिलाड़ी दक्षिण अफ्रीका में काफी क्रिकेट खेल चुके हैं और परिस्थितियों से वाकिफ हैं. पुराने दौरे को हम पीछे छोड़ चुके हैं." धोनी के मुताबिक दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज भारतीय बल्लेबाजों को उछाल लेती गेंदें डालेंगे लेकिन वे इसके लिए तैयार हैं.

दक्षिण अफ्रीका में भारत का रिकॉर्ड दयनीय रहा है लेकिन धोनी पुरानी बातों को याद नहीं करना चाहते. उनके मुताबिक वह अतीत में नहीं वर्तमान पर ध्यान दे रहे हैं और आंकड़ों से चिंतित नहीं हैं. टेस्ट खेलने वाले देशों की आईसीसी रैंकिंग में टॉप पर भारतीय टीम है लेकिन भारत ने दक्षिण अफ्रीका में 12 टेस्ट मैचों में सिर्फ एक मैच ही जीता है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: ए कुमार

DW.COM

WWW-Links

संबंधित सामग्री