1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

थाइलैंड में गतिरोध जारी, 36 की मौत

थाइलैंड से चार दिनों से जारी हिंसा में अब तक 36 लोग मारे गए हैं, जबकि सोमवार को भी शहर में गोलियां चलने और धमाकों की आवाज़ आती रही. रविवार को सरकार ने विपक्षी आंदोलनकारियों का वार्ता का प्रस्ताव ठुकरा दिया था.

default

रेडशर्ट आंदोलनकारियों के नेता सरकार द्वारा तुरंत संघर्षविराम मानने और सेना को हटाने की स्थिति में संयुक्त राष्ट्र की मध्यस्थता में वार्ता चाहते थे. सरकार ने वार्ता की पेशकश को ठुकरा दिया है और कहा है कि थाइलैंड अपनी समस्या का समाधान स्वयं कर सकता है.

Thailand Unruhen in Bangkok

विपक्षी मोर्चे यूडीडी की मांग थी कि सरकार संघर्षविराम करे, सेना को हटाए और उग्र आंदोलनकारियों को आतंकी न कहे. लेकिन सरकार का कहना है कि सेना को हटाना ज़रूरी नहीं है क्योंकि सेना असैनिक नागरिकों के ख़िलाफ़ हथियार का इस्तेमाल नहीं कर रही है.

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव बान की मून ने एक बार फिर दोनों पक्षों से और रक्तपात रोकने की अपील की. चिकित्सा सूत्रों के अनुसार सोमवार सुबह तक उपद्रवों में 36 लोग मारे गए हैं और 341 घायल हो गए हैं. डेढ़ करोड़ आबादी वाले शहर में कई सड़कें यु्द्ध क्षेत्र की तरह दिखने लगी हैं. मार्च में सरकार विरोधी आंदोलन के शुरू होने के बाद से 60 लोगों की जानें जा चुकी हैं.

राजधानी बैंकॉक के कारोबारी इलाके में अभी भी कम से कम 5000 सरकार विरोधी प्रदर्शनकारियों के जमे होने की संभावना है. 2006 में सत्ता से हटने वाले प्रधानमंत्री थकसिन शिनावात्रा के समर्थक प्रधानमंत्री के इस्तीफ़े और तुरंत चुनाव कराने की मांग कर रहे हैं. प्रधानमंत्री अभिसित वेजाजीवा ने नवम्बर में चुनाव कराने की पेशकश की थी लेकिन इस बीच समझौता वार्ता टूट जाने के बाद अपनी पेशकश वापस ले ली है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/महेश झा

संपादन: एस गौड़

संबंधित सामग्री