1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

तेहरान पहुंचे 'अगवा' ईरानी वैज्ञानिक

रहस्यमयी पहेली की तरह अमेरिका पहुंचने वाले ईरानी वैज्ञानिक वापस तेहरान पहुंचे. वैज्ञानिक का आरोप है कि उन्हें अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए ने अगवा किया. साल भर बाद हुई वतन वापसी.

default

ईरान के अधिकारियों ने लापता वैज्ञानिक शहराम अमीरी के सुरक्षित तेहरान पहुंचने की जानकारी दी. ईरानी अधिकारियों ने कहा कि अमीरी का विमान तेहरान के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उतर चुका है. एक बयान में कहा गया है कि वह अमीरी कुछ देर बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस भी करेंगे.

ईरान के अटॉमिक एनर्जी ऑर्गेनाइजेशन के लिए काम करने वाले शहराम अमीरी पिछले साल सऊदी अरब से अचानक लापता हो गए. ईरान ने आरोप लगाया कि सीआईए ने उनका अपहरण कर लिया है. अमेरिका ने इस आरोप से इनकार किया है लेकिन इस बात की जानकारी नहीं दी कि सऊदी अरब से गायब हुए वैज्ञानिक अचानक अमेरिका कैसे पहुंच गए.

अमीरी का दावा है कि बल प्रयोग करके उनका अपहरण किया गया. उन्होंने कहा, "जब मैं सऊदी अरब में धार्मिक यात्रा के लिए गया, तो एक कार ने मुझे लिफ्ट दी. जैसे ही मैं कार में चढ़ा, मुझ पर बंदूक तान दी गई. इसके बाद मुझे नशीली दवा खिलाई गई और बाद में सैनिक विमान से अमेरिका भेज दिया गया."

US Geheimdienste CIA

सीआईए पर आरोप

ईरान के विदेश मंत्रालय ने इस बात की पुष्टि कर दी है कि अमीरी ईरान के लिए रवाना हो गए हैं. लगभग 14 महीनों तक लापता रहने के बाद मंगलवार को अमीरी पाकिस्तानी दूतावास के ईरानी हित वाले इलाके में अचानक पाए गए. 1979 के इस्लामी क्रांति के बाद से अमेरिका ने ईरान के साथ कूटनीतिक रिश्ते खत्म कर दिए हैं. ईरान का कहना है कि वह अमीरी के केस को कानूनी तरीके से आगे बढ़ाएगा.

अमेरिका का कहना है कि उन्होंने अमीरी का अपहरण नहीं किया. हालांकि उसने इस बारे में और कुछ साफ नहीं किया है और यह भी नहीं बताया है कि क्या किसी दूसरे देश ने अमीरी का अपहरण किया और बाद में उन्हें सौंप दिया गया.

ईरान के परमाणु कार्यक्रम को लेकर अमेरिका और ईरान में तनातनी चल रही है. अमेरिका सहित पश्चिमी देशों का आरोप है कि ईरान परमाणु हथियार तैयार कर रहा है, जबकि ईरान का कहना है कि वह सिर्फ शांतिपूर्ण कार्यक्रम चला रहा है. अमीरी का मुद्दा सामने आने के बाद इस मामले ने नया मोड़ ले लिया है क्योंकि अमीरी परमाणु वैज्ञानिक हैं. समझा जाता है कि उन्हें ईरान के परमाणु कार्यक्रम के बारे में बहुत कुछ पता है.

इस बीच टेलीविजन और इंटरनेट पर कई लोगों ने खुद को अमीरी होने का दावा पेश करते हुए वीडियो जारी किया था. एक ऐसे ही शख्स ने कहा था कि अमेरिकी जवानों ने उसका अपहरण कर लिया और उसे बेहद यातनाएं दी गईं. लेकिन वह उनके कब्जे से भागने में कामयाब रहा.

अमीरी का पता लगने के बाद ही अमेरिका ने कहा था कि वह अपने घर जाने के लिए स्वतंत्र हैं.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए जमाल

संपादनः ओ सिंह