तेज शोर में भी आराम से बात कराएगा हियरफोन | विज्ञान | DW | 16.12.2016
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

तेज शोर में भी आराम से बात कराएगा हियरफोन

किसी ने हेडफोन लगाया हो तो लगता है कि वह शख्स बातचीत करने के मूड में नहीं है. लेकिन दिग्गज कंपनी बोस ने अब एक खास हियरफोन बनाया है जो भीड़ में आराम से बातचीत करने की सुविधा देगा.

स्पीकर और हेडफोन बनाने वाली दिग्गज कंपनी बोस ने नई मशीन को हियरफोन नाम दिया है. मशीन में कोई तार नहीं है. ईयरबड्स की तरह दिखने वाली मशीन को कान में डाला जाएगा. हियरफोन आस पास मौजूद शोर को न्यूनतम कर देंगे. हियरफोन में लगे माइक्रोफोन की दिशा जिस तरफ की जाएगी उस तरफ के व्यक्ति की आवाज शोर गुल के बीच में बड़ी आराम से साफ साफ सुनाई देगी.

हियरफोन नॉयज कैंसिलेशन टेक्नोलॉजी से लैस है. यह तकनीक, शोर गुल की आवृत्ति की बिल्कुल उल्टी ध्वनि तरंगे पैदा करती है. एक साथ बिल्कुल विपरीत ध्वनि तरंगें जब एक दूसरे से टकराती है तो उसका असर बहुत ही कम हो जाता है.

Deutschland Club-Konzert von Metallica bei Circus HalliGalli in Berlin (picture-alliance/dpa/J. Carstensen)

कई तरह के शोर को खत्म करेगी नॉयज कैंसिलेशन टेक्नोलॉजी

बोस का दावा है कि हियरफोन को स्मार्टफोन ऐप से नियंत्रित किया जाएगा. ऐप के जरिये तय किया जाएगा कि किस दिशा से आने वाली कौन सी आवाज सुननी है. अगर ऐप का इस्तेमाल किये बिना किसी और दिशा की आवाज सुननी हो तो हियरफोन को उस दिशा की तरफ घुमाना भर पड़ेगा.

कंपनी का दावा है कि हियरफोन से लाइव कॉन्सर्ट के दौरान होने वाले लोगों के शोर को खत्म कर सिर्फ म्यूजिक तक सुना जा सकेगा. कंपनी ने कहा, "डायरेक्शनल माइक्रोफोन्स शोर भरी जगह में भी आपका ध्यान बातचीत पर रखते हैं. फोकस, जो आवाज आप सुनना चाहते हैं उसे घटा या बढ़ा सकता है."

अनुमान लगाया जा रहा है कि हियरफोन आम हेडफोन और हियरिंग मशीन जैसे प्रोडक्ट्स पर भारी पड़ेगा. 20वीं सदी की शुरुआत में कान में सुनने के लिए इलेक्ट्रॉनिक मशीनें बनाई जाने लगीं. अब तक यही इस्तेमाल की जा रही हैं. अमेरिकी शहर मैसाच्युसेट्स की कंपनी बोस का कहना है कि नई मशीन बातचीत में होने वाली परेशानी को बेहतरीन ढंग से खत्म कर देगी.

DW.COM

संबंधित सामग्री