1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

'तेज पिचें भारी पड़ेंगी दक्षिण अफ्रीका को'

द वॉल के नाम से मशहूर भारत के भरोसेमंद बल्लेबाज राहुल द्रविड़ ने कहा है कि दक्षिण अफ्रीका भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज में हरी घास वाली पिचें तैयार करता है तो यह फैसला खुद उसके लिए भारी पड़ सकता है.

default

द्रविड़ का मानना है कि दक्षिण अफ्रीका के मुकाबले भारत की पेस बैटरी भी कोई कम नहीं है और टीम इंडिया के पास भी शानदार गेंदबाज हैं. भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच टेस्ट सीरीज अगले हफ्ते से शुरू हो रही है.

दक्षिण अफ्रीका के विरूद्ध टेस्ट श्रृंखला की तैयारी के लिए कोच गैरी कर्स्टन ने एकेडमी लगाई है और द्रविड़ भी उसमें हिस्सा ले रहे हैं. द्रविड़ को विश्वास है कि तेज रफ्तार वाली पिचों का फायदा उठाना भारतीय गेंदबाज अच्छी तरह जानते हैं.

Rahul Dravid

केपटाउन के क्लेयरमोंट क्लब एकेडमी में द्रविड़ ने कहा, "ये सीरीज कांटे की टक्कर साबित होगी लेकिन मुझे विश्वास है कि अगर हमारे तेज गेंदबाज जहीर खान, ईशांत शर्मा और श्रीसंत सीरीज के दौरान पूरी तरह फिट रहे तो हमारा प्रदर्शन अच्छा रहेगा."

द्रविड़ के मुताबिक तीनों टेस्ट मैचों में कड़ी टक्कर होने की उम्मीद है और तेज उछाल वाली पिचें तैयार करने का फैसला दक्षिण अफ्रीका को ही भारी पड़ जाएगा.

"दक्षिण अफ्रीका एक बेहतरीन टीम है. खासकर घरेलू परिस्थितियों में. हमें उन्हें हराने के लिए अच्छी क्रिकेट खेलनी होगी." द्रविड़ इस बात से असहमत दिखे कि अगर भारत सीरीज हार जाता है तो दक्षिण अफ्रीका टेस्ट खेलने वाले देशों में टॉप टीम साबित होगी.

"मैं ऐसा नहीं मानता. हमने पिछले चार पांच सालों में दिखाया है कि हम हर देश में अच्छा खेल सकते हैं. हमने ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड में अच्छा खेल दिखाया. पिछले दक्षिण अफ्रीकी दौरे पर हमने एक टेस्ट भी जीता था."

हालांकि द्रविड़ स्वीकार करते हैं कि सुरेश रैना और गौतम गंभीर ने कभी दक्षिण अफ्रीका में टेस्ट मैच नहीं खेला है लेकिन उनका कहना है कि नई पीढ़ी विदेशी धरती पर सफलता पाने के लिए ज्यादा तैयार है. भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच पहला टेस्ट 16 दिसंबर को सेंचुरियन में खेला जाएगा.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: ए कुमार

DW.COM