1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

तुर्की दूतावास में बंधक ड्रामा खत्म

तेल अवीव में तुर्की के दूतावास में चाकू और खिलौना बंदूक लेकर एक अधिकारी को बंधक बनाने की कोशिश करने वाला पकड़ा गया. शुरुआती जांच में पता चला है कि वो फलीस्तीन का नागरिक है और उसकी दिमागी हालत ठीक नहीं है.

default

दूतावास की सुरक्षा कड़ी

इस्राएल के सरकारी रेडियो पर चश्मदीदों को ये कहते सुना गया कि सुरक्षाकर्मियों ने इस युवक के पैर में गोली मार कर उसे घायल कर दिया. इस पूरे ड्रामे में एम्बेसी का कोई कर्मचारी घायल नहीं हुआ. इस्राएली विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता यगेल पामर ने कहा, "तुर्क अधिकारियों ने उस युवक पर काबू कर लिया जिसने एक इस्राएली नर्स और पुलिस ऑफिसर को चाकू की नोक पर बंधक बना लिया था. अधिकारी उसे एंबुलेंस में डालकर अस्पताल ले गए."

Israel Tel Aviv Türkische Botschaft Geiselnahme

विदेश मंत्रालय के मुताबिक मंगलवार की शाम ये शख्स पहली मंजिल पर चढ़ गया और फिर खिड़की का शीशा तोड़कर इमारत के अंदर दाखिल हो गया. इसके बाद वो चीख चीख कर शरण देने की मांग करने लगा. इसी दौरान उसने एंम्बैसी के एक अधिकारी को चाकू की नोक पर घेरने की भी कोशिश की. काफी देर तक दूतावास में हड़कंप मचा रहा. बाद में सुरक्षाकर्मियों ने दूसरी मंजिल से उसके पैर में गोली मारी. इस्राएल के सरकारी रेडियो ने इसका नाम नदीम इंजाज़ बताया है. इंजाज़ के हाथों में एक बंदूक भी थी जो बाद में खिलौना साबित हुई. दूतावास के बाहर भी काफी देर तक उहापोह की स्थिती बनी रही और अलग अलग सूत्रों से उलझन में डालने वाली खबरें आती रहीं.

खबरों में कहा गया है कि ये वही शख्स है जिसे इस्राएली पुलिस ने चार साल पहले 2006 में तेल अवीव में ब्रिटेन की एम्बेसी में जबर्दस्ती घुसने पर गिरफ्तार किया था. इस दौरान उसने ब्रिटेन में शरण नहीं दिए जाने पर आत्महत्या की धमकी दी थी. खबरों में ये भी कहा जा रहा है कि इंजाज़ इस्राएली सुरक्षा एजेंसियों के साथ मिल गया था. सूत्र बताते हैं कि इंजाज़ की कई सालों से घुसपैठ और इस्राएली सुरक्षा एजेंसियों के साथ रिश्ते रखने के आरोप में फलीस्तीनी पुलिस तलाश कर रही है जिनसे बचने के लिए वो इस्राएल भाग आया है.

रिपोर्टः एजेंसियां/एन रंजन

संपादनः ए जमाल

DW.COM