1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

'तुरुप के पत्ते हैं युवराज और यूसुफ'

1983 में भारत की विश्व कप विजेता टीम के सदस्य रहे दिलीप वेंगसरकर ने कहा है कि महेंद्र सिंह धोनी की टीम में इतना माद्दा है कि वह 28 साल बाद फिर से विश्व चैंपियन बन सकती है.

default

वेंगसरकर ने कहा कि विश्व कप जीतने के लिए जरूरी है कि युवराज सिंह और यूसुफ पठान जैसे विस्फोटक बल्लेबाज फॉर्म में रहें. पठान और युवराज दोनों ही तेजी से रन बनाने के लिए मशहूर हैं. एक तरफ जहां युवराज अपने फॉर्म पाने के लिए लगातार कोशिश कर रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ यूसुफ पठान ने हाल ही में न्यूजीलैंड और दक्षिण अफ्रीका जैसी टीमों के खिलाफ तेज शतक लगाकर विश्व कप से पहले अपने शानदार फॉर्म का नजारा पेश किया है.

वेंगसरकर मानते हैं कि पठान और युवराज की अच्छी फॉर्म भारतीय टीम के खिताब जीतने में सहायक होगी. उन्हें लगता है कि धोनी की अगुवाई में टीम इंडिया 19 फरवरी से भारतीय उपमहाद्वीप में शुरू हो रहे विश्व कप में बेहतरीन प्रदर्शन करेगी.

पूर्व मुख्य चयनकर्ता वेंगसरकर ने कहा कि भारतीय टीम इस समय दुनिया की ताकवर टीमों में से एक है और पिछले चार सालों से वह बेहतरीन खेल रही है. उन्होंने कहा कि विश्व कप में भारतीय टीम को अपने घरेलू मैदानों में खेलने का बहुत फायदा होगा.

वेंगसरकर के 1987 के विश्व कप की भारतीय टीम को याद करते हुए कहा कि 1987 में भी हमारी टीम बहुत मजबूत थी लेकिन तब हम सेमीफाइनल में हार गए थे.

रिपोर्टः पीटीआई/एस खान

संपादनः ओ सिंह