1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

तीसरे दौर में 53 फीसदी मतदान

छिटपुट घटनाओं को छोड़ दिया जाए तो बिहार में तीसरे दौर का मतदान शांतिपूर्ण रहा. लगभग 53 प्रतिशत लोगों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया. इस चरण में विपक्ष की नेता राबड़ी समेत कई नेताओं की किस्मत ईवीएम में बंद हुई.

default

गुरुवार को 48 सीटों पर वोट डाले गए जिनमें से पांच निर्वाचन क्षेत्र अमनोर, तरैया, रामनगर, बाल्मीकिनगर और पटेपुर नक्सल प्रभावित माने जाते हैं. इन सीटों पर 45 से 52 फीसदी मतदान हुआ. वैशाली जिले की राघोपुर सीट पर नदी किनारे बसे वोटरों को नावों से मतदान केंद्र तक ले जाया गया. इस सीट से विपक्ष की नेता और आरजेडी मुखिया लालू प्रसाद यादव की पत्नी राबड़ी देवी मैदान में थी. वह सारण जिले की सोनपुर सीट से भी किस्मत आजमा रही हैं.

चुनावी गड़बड़ियों को रोकने के लिए लगभग 185 लोगों को हिरासत में भी लिया गया. लेकिन राज्य पुलिस महानिदेशक नीलमणि ने कहा कि छिटपुट घटनाओं को छोड़ दें तो मतदान शांतिपूर्ण तरीके संपन्न हो गया. वैसे पूर्वी चंपारण जिले की रक्सौल सीट पर बीजेपी और आरेजेडी के कार्यकर्ताओं में झड़प होने की खबरें हैं, लेकिन इसमें कोई भी घायल नहीं हुआ. वैशाली जिले की लालगंज सीट के माधवपुर मतदान केंद्र पर प्रतिद्वंद्वी गुटों के बीच भी हाथापाई हो गई.

पुलिस सूत्रों के मुताबिक सारण जिले की अमनोर सीट पर निर्दलीय उम्मीदवार अवधेश सिंह को 15 हजार रुपये के साथ गिरफ्तार किया गया. उन पर पैसे के बल पर लोगों को प्रभावित करने का आरोप है. गोपालगंज में एक पीठासीन अधिकारी को भी चुनावी गडबड़ियों के आरोप में गिरफ्तार किया गया. बेतिया में बीजेपी की मंत्री में रेणु देवी की कार जब्त कर ली गई. लेकिन सीवान जिले के बाधारा मतदान केंद्र पर एक बूढ़ी महिला की मौत हो गई.

बाल्मीकिनगर, बाघा, बेतिया, सीवान, वैशाली और गोपालगंज जिलों में कुछ मतदान केंद्रों पर ईवीएम में गड़बड़ियां भी पाई गईं लेकिन उन्हें ठीक कर लिया गया. बेतिया के दो और भोरे और रक्सौल सीटों पर एक एक मतदान केंद्र पर लोगों ने चुनाव का बहिष्कार किया. नक्सल प्रभावित रामनगर, बाल्मीकिनगर और पटेपुर में मतदान तीन बजे ही खत्म हो गया जबकि दो अन्य नक्सल प्रभावित सीटों अमनोर और तरैया में चार बजे आखिरी वोट डाला गया.

तीसरे दौर में 785 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला ईवीएम में बंद हो गया जिनमें 65 महिलाएं भी शामिल हैं. तीसरे दौर में आरजेडी 35 सीटों पर चुनाव मैदान में है जबकि उसकी सहयोगी पार्टी एलजेपी 13 सीटों पर किस्मत आजमा रही है. सत्ताधारी जेडीयू और बीजेपी इस चरण में 24-24 सीटों पर चुनाव लड़ी. वहीं सीपीआई ने 10 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे. सीपीएम पांच और सीपीआई-एमएल (लिबरेशन) 16 सीटों पर चुनाव मैदान में हैं. कांग्रेस 48 सीटों पर अकेले दम ही चुनाव में उतरी है. बीएसपी ने भी बहुत सी सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः एन रंजन

DW.COM

WWW-Links