1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

तीसरी बार वर्ल्ड चैंपियन बने फेटल

हादसों से भरी रेस में किसी तरह टूटी फूटी गाड़ी दौड़ा कर जर्मनी के सेबास्टियान फेटल ने लगातार तीसरी बार फॉर्मूला वन चैपियनशिप जीती. 25 साल के फेटल चैंपियनशिप की हैट्रिक बनाने वाले सबसे युवा ड्राइवर भी बने.

ब्राजील में हुई साल की आखिरी ग्रां प्री में फेटल चैंपियनशिप गंवाते गंवाते बचे. बारिश से प्रभावित रेस में फेटल छठे स्थान पर रहे. चैंपियनशिप में उन्हें कड़ी टक्कर दे रहे स्पेन के फर्नांडो ओलोंसो रेस में दूसरे स्थान पर रहे. लेकिन इसके बावजूद ओलोंसो चैंपियनशिप की रेस में फेटल से सिर्फ तीन अंक पीछे रह गए. इस साल हुई बीस रेसों के बाद फेटल के 281 अंक थे और ओलोंसो के 278.

ब्राजील की रेस हादसों से भरी रही. पहले लैप (चक्कर) में फेटल की गाड़ी दुर्घटना का शिकार हुई. हादसे के बाद फेटल सबसे पीछे हो गए. रेडबुल टीम ने अपने ड्राइवर फेटल को बताया कि गाड़ी को रिपेयर नहीं किया जा सकता है लेकिन रेस पूरी की जा सकती है. युवा जर्मन ड्राइवर ने रेस पूरी करने का फैसला किया.

Formel 1 Großer Preis von Brasilien

टक्कर से घूमी फेटल की गाड़ी

हालांकि चैंपियनशिप जीतने के लिए उन्हें काफी हद तक किस्मत के भरोसे बैठना पड़ा. फेटल को ये दुआ करनी थी कि फरारी के फर्नांडो ओलोंसो पहले स्थान पर न आएं. साथ ही उन्हें किसी न किसी तरह अपनी क्षतिग्रस्त गाड़ी के जरिए रेस पूरी करनी थी और सातवें स्थान से नीचे नहीं आना था. ओलोंसो ने पहले नंबर पर आने के लिए बहुत जोर लगाया लेकिन जेसन बटन ने उन्हें आगे नहीं जाने दिया. वहीं भाग्य ने लंबे वक्त बाद इस बार फेटल का साथ दिया. ओलोंसो दूसरे नबंर पर रहे और फेटल छठे पर. सत्र की आखिरी रेस के विजेता मैक्लारेन के ब्रिटिश ड्राइवर जेसन बटन रहे. पोल पोजिशन पर रहे बटन के ब्रिटिश और मैक्लारेन साथी लुईस हैमिल्टन रेस पूरी नहीं कर सके.

Formel 1 Großer Preis von Brasilien

फेटल की क्षतिग्रस्त कार

जर्मनी के मिषाएल शूमाखर और अर्जेंटीना के जुआन मानुएल फान्गिओ के बाद फेटल फॉर्मूला वन के इतिहास में तीसरे ऐसे ड्राइवर हैं जिन्होंने लगतार तीन बार चैंपियनशिप जीती है. ब्राजील की इस रेस के साथ ही इस साल का फॉर्मूला वन सत्र खत्म हो गया है. इस रेस को सात बार वर्ल्ड चैंपियन रहे मिषाएल शूमाखर के संन्यास के लिए भी याद किया जाएगा. शूमी ने रविवार को फॉर्मूला वन को अलविदा कह दिया.

ओएसजे/एएम (एएफपी, रॉयटर्स)

DW.COM

WWW-Links