1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

तासीर की हत्या: 36 पुलिसवाले गिरफ्तार

पाकिस्तानी पंजाब के गवर्नर रहे सलमान तासीर की हत्या के मामले में पुलिस ने बड़ी साजिश का शक जाहिर किया है. इस मामले में पुलिस ने 40 लोगों को गिरफ्तार किया है जिनमें से 36 पुलिसवाले हैं.

default

66 साल के सलमान तासीर का बुधवार को लाहौर में अंतिम संस्कार किया गया. मंगलवार को उनके अंगरक्षक ने इस्लामाबाद में उनकी गोली मारकर हत्या कर दी थी. सलमान तासीर की आखिरी यात्रा में प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी समेत कई बड़े नेता शामिल हुए. सत्ताधारी पाकिस्तान पीपल्स पार्टी के नेताओं ने कहा कि राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी सुरक्षा कारणों से अंतिम यात्रा में शामिल नहीं हो पाए.

Salman Taseer Beerdigung

तासीर की हत्या की जांच कर रहे अधिकारियों ने 36 पुलिसवालों समेत कुल 40 लोगों को गिरफ्तार किया है. इससे पहले खुलासा हुआ कि एक वरिष्ठ पुलिस अफसर ने हत्या के लिए जिम्मेदार अंगरक्षक के बारे में चेतावनी दी थी. यानी उसके अतिवादी झुकाव के बारे में सुरक्षा एजेंसियों को बता दिया गया था.

गृह मंत्री रहमान मलिक ने बताया कि जांच अधिकारी इस बात का पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि हत्यारे मलिक मुमताज हुसैन कादरी ने यह कदम अपनी मर्जी से उठाया है या उसके पीछे किसी संगठन का भी हाथ है.

गवर्नर की सुरक्षा में लगे अधिकारियों के ड्यूटी चार्ट में सोमवार रात तक भी कादरी का नाम नहीं था. मलिक ने बताया कि मंगलवार सुबह उसने कहकर अपनी ड्यूटी लगवाई. बताया जाता है कि कादरी को अपने किये पर किसी तरह का पछतावा नहीं है. पाकिस्तान पुलिस ने उस पर आतंकवाद और हत्या के आरोपों में केस दर्ज कर लिया है.

बुधवार को पुलिस ने कादरी को जुडिशल मैजिस्ट्रेट मलिक नईम शौकत की अदालत में पेश किया और एक दिन के रिमांड पर ले लिया. गुरुवार को उसे रावलपिंडी की आतंकवाद निरोधी अदालत में पेश किया जाएगा.

पाकिस्तानी मीडिया में आई खबरों के मुताबिक पिछले साल रावलपिंडी क्षेत्र के पुलिस प्रमुख रहे नासिर खान दुर्रानी ने एक फाइल में लिखा था कि मलिक मुमताज हुसैन कादरी और 10 अन्य सुरक्षाकर्मियों का झुकाव आतंकवाद की ओर है. दुर्रानी ने लिखा था कि इन लोगों को वीआईपी सुरक्षा में नहीं लगाया जाना चाहिए. इसके बावजूद पिछले दो साल में कम से कम पांच बार कादरी को तासीर की सुरक्षा में तैनात किया गया.

एक पुलिस अफसर ने अखबार डॉन को बताया कि कादरी को कम से कम एक बार तो प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी की सुरक्षा में भी तैनात किया गया.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः महेश झा

DW.COM

WWW-Links