1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

तस्वीर से तुर्की में उबाल

तुर्की में प्रधानमंत्री के एक करीबी ने प्रदर्शनकारी की लातों से पिटाई की. घटना की तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो गए हैं. वाकया एर्दोवान के राजनैतिक भविष्य के ताबूत का काम कर सकता है.

सोमा की कोयला खदान में हुए हादसे के मद्देनजर तुर्की में प्रधानमंत्री रेचेप तैयब एर्दोवान की भारी आलोचना हो रही है. बुधवार को देश की सभी ट्रेड यूनियनों ने व्यापक हड़ताल की. इसी बीच एक अखबार ने प्रधानमंत्री के एक करीबी सहयोगी की एक प्रदर्शनकारी को लात मारते हुए तस्वीरें प्रकाशित कर दीं.

तस्वीरों के सामने आते ही लोगों की नाराजगी भारी गुस्से में बदल गई. पिटाई की तस्वीरें और वीडियो अब सोशल मीडिया में खूब शेयर हो रहा है. एर्दोवान राष्ट्रपति चुनाव लड़ना चाहते हैं लेकिन इस वीडियो के सामने आने के बाद लग रहा है कि उनकी राजनीति की नैया डगमगाएगी.

एर्दोवान के करीबी की यह तस्वीर बुधवार को उस वक्त ली गई जब एर्दोवान सोमा की कोयला खदान का दौरा करने पहुंचे. खदान हादसे में 282 लोगों की मौत हुई है. लोगों में तब गुस्सा फैल गया जब एर्दोवान ने खान हादसे को काम पर होने वाला सामान्य हादसा करार दिया जो विकसित औद्योगिक देशों में भी होता है.

Türkei Explosion in Bergwerk Proteste

खदान हादसे के बाद तुर्की में प्रदर्शन

एर्दोवान ने प्रदर्शनकारियों पर अव्यवस्था फैलाने और स्थानीय निकायों के चुनावों को प्रभावित करने का आरोप लगाया है. बुधवार को कई शहरों में हजारों प्रदर्शनकारियों ने एर्दोवान और उनकी सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया था. उन्होंने प्रदर्शनकारियों की आलोचना करते हुए कहा, "वे लोकतांत्रिक और आजादी के समर्थक होने का दावा करते हो, लेकिन उनका लोकतंत्र से कोई वास्ता नहीं, वे चुनावों में विश्वास नहीं करते."

प्रधानमंत्री कार्यालय एर्दोवान को इस वीडियो से बचाने की कोशिश कर रहा है. प्रधानमंत्री कार्यालय के एक अधिकारी ने मारपीट की घटना को "निजी मामला" करार दिया. लात मारने वाले व्यक्ति का नाम भी प्रधानमंत्री कार्यालय से सार्वजनिक नहीं किया.

ओएसजे/एमजे (एपी)

संबंधित सामग्री