1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

"तमीजदार और पियक्कड़ ब्रिटिश"

विदेशों में ब्रिटेन के लोगों को कैसी छवि है, ब्रिटिश काउंसिल ने यह जानने के लिए एक सर्वे कराया. सर्वे में पता चला कि दूसरे मुल्कों में ब्रिटेन के लोगों को पसंद तो किया जाता है लेकिन उन्हें शराबी किस्म का भी माना जाता है.

ब्राजील, चीन, भारत जैसे उभरते देशों के अलावा जर्मनी और अमेरिका जैसे विकसित देशों में 18 से 34 साल के युवाओं से ब्रिटेन के लोगों के बारे में सवाल किये गए. एक सवाल था कि ब्रिटेन के लोगों के व्यक्तित्व में सबसे ज्यादा क्या दिखाई पड़ता है. 46 फीसदी ने कहा, "अच्छा बर्ताव." उन्हें दोस्ताना, शिक्षित और विनोदी भी माना गया.

लेकिन 27 फीसदी लोगों ने यह भी कहा कि ब्रिटिश बहुत ही ज्यादा शराब पीते हैं. 23 फीसदी ने तो ब्रितानी लोगों को खाने के मामले में खराब आदतों वाला करार दिया. सर्वे में यह भी पता चला कि विदेशों में ब्रिटेन की संस्कृति, इतिहास और भाषा की वजह से ज्यादा चर्चा होती है. ब्रिटेन के मौसम और खाने को सबसे ज्यादा नापसंद किया जाता है.

काउंसिल के रणनैतिक निदेशक जॉन वोर्न कहते हैं, "भले ही बहुत सी बातों पर गर्व हो लेकिन कुछ स्टीरियोटाइप यह भी कह सकते हैं कि विदेशों में हमें नशे में टुल्ल, खराब खाने वाले और दूसरी संस्कृतियों के प्रति उदासीन रहने वाले की तरह देखा जाता है."

इन देशों में 6,000 युवाओं से जब यह पूछा गया कि उन्हें कौन सा देश सबसे ज्यादा आकर्षित करता है तो ज्यादातर ने अमेरिका कहा. ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया दूसरे नंबर पर रहे. फ्रांस और इटली की बारी इनके बाद आई.

विदेशों में भले ही ब्रिटेन की छवि अब भी शिक्षा के मामले में बेहतर हो, लेकिन ब्रिटेन के छात्र अपने सिस्टम से मायूस हो रहे हैं. महंगाई और बेरोजगारी की वजह से ब्रिटेन के ज्यादातर छात्र विदेशों का रुख कर रहे हैं.

ओएसजे/एमजे (एएफपी)

संबंधित सामग्री