1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

डोपिंग में पकड़े गए तीन भारतीय तैराक

भारत के लिए कॉमनवेल्थ खेलों के खेमे से एक और बुरी खबर है. उसके तीन तैराक डोप टेस्ट में फेल हो गए हैं. इनमें से दो खिलाड़ियों को कॉमनवेल्थ टीम में जगह दी गई है. दो महिला और एक पुरुष तैराक डोप टेस्ट पास नहीं कर पाए.

default

64वीं राष्ट्रीय तैराकी प्रतियोगिता में सबसे अच्छी महिला तैराक चुनी गईं रिचा मिश्रा डोप टेस्ट में फेल होने वाले खिलाड़ियों में शामिल हैं. कॉमनवेल्थ खेलों में उनकी टीम की साथी ज्योत्सना पंसारे और एक अन्य तैराक अमर मुरलीधरन को भी डोपिंग में पॉजिटिव पाया गया. इन्हें मिथाइलहेक्सानेमाइन नाम की दवा लेने का दोषी पाया गया. वर्ल्ड एंटी डोपिंग एजेंसी ने इस दवा पर इसी साल प्रतिबंध लगाया है.

भारतीय तैराकी फेडरेशन के सचिव वीरेंद्र नानावटी ने कहा है कि अगर खिलाड़ियों का बी सैंपल भी पॉजिटिव पाया जाता है तो रिचा और ज्योत्सना को कॉमनवेल्थ में खेलने वाली टीम से हटा लिया जाएगा. नानावटी ने कहा, "हमें नेशनल एंटी डोपिंग एजेंसी ने इन तीनों के डोपिंग में फेल होने की सूचना दे दी है. इनके सैंपल जयपुर में राष्ट्रीय प्रतियोगिता के दौरान लिए गए."

उन्होंने कहा कि खिलाड़ी अपने बी सैंपल की जांच की मांग कर सकते हैं और वह प्रक्रिया पूरी होने के बाद ही फैसला करेंगे. नानावटी ने कहा कि अभी यह कहना है मुश्किल है कि दोनों तैराकों के टीम से हटने पर किसी और को लिया जा सकेगा या नहीं.

इसके साथ ही हाल ही में डोपिंग टेस्ट में फेल होने वाले भारतीय खिलाड़ियों की संख्या 11 हो गई है. कुछ ही दिन पहले छह पहलवानों और दो ऐथलीटों को भी डोपिंग में पॉजिटिव पाया गया और उन्हें कॉमनवेल्थ खेलों की टीम से हटा दिया गया.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः ए कुमार

DW.COM

WWW-Links