1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

वर्ल्ड कप

डोपिंग टेस्ट में पकड़ी गई भारतीय एथलीट

कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत को और कई सोने के पदकों की आस है. लेकिन एक खिलाड़ी के डोपिंग टेस्ट में पॉजिटिव पाए जाने से भारतीय खेमे में कुछ मायूसी है. डोपिंग में पकड़ी गई खिलाड़ी का नाम रानी यादव है.

default

डोपिंग का साया

बुधवार सुबह एक प्रेस कांफ्रेंस में कॉमनवेल्थ गेम्स फेडरेशन के अध्यक्ष माइकेल फेनेल ने बयाया कि डोपिंग टेस्ट के नतीजे के बारे में भारतीय मिशन के प्रधान भुवनेश्वर कालिता को सूचना दी गई है. दोपहर के बाद तक उनकी रिपोर्ट की उम्मीद की जा रही है. अभी अभी पता चला है कि डोपिंग में पकड़ी गई खिलाड़ी का नाम रानी यादव है.

इससे पहले फेनेल ने कहा था कि चूंकि अभी तक संबद्ध खिलाड़ी को इसकी सूचना नहीं मिली है, इसलिए डोपिंग टेस्ट की आचार संहिता के अनुसार उसका नाम नहीं बताया जा रहा है. उन्होंने कहा कि यह प्रतिबंधित पदार्थ नांड्रोलोन नाम का एक स्टेरॉएड है.

संगठन समिति के महासचिव ललित भनोट ने कहा कि डोपिंग टेस्ट में पॉजिटिव परिणाम एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना है. उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय एंटी डोपिंग एजेंसी व सरकारी अधिकारियों की पूरी कोशिश रहती है कि ऐसी घटनाएं टाली जा सके. मेजबान होने के नाते भी वे अतिरिक्त सावधानी बरत रहे हैं, लेकिन अफसोस की बात है कि फिर भी ऐसी घटना सामने आई.

कॉमनवेल्थ गेम्स के दौरान यह डोपिंग की तीसरी घटना है. इससे पहले नाइजीरिया की ओसायेमी ओलुदामोला और सामुएल ओकोन को मिथाईलहेक्सानेआमिन नाम की प्रतिबंधित ड्रग लेने का दोषी पाया गया था. ओलुदामोला का स्वर्ण पदक छीन लिया गया था, जबकि ओकोन को कोई पदक नहीं मिला था.

फेनेल ने कहा कि 1,300 डोपिंग टेस्ट में तीन मामले सामने आए हैं, जो बहुत बुरा नतीजा नहीं है. उनका कहना था कि कोच और एथलीटों को इस सिलसिले में बेहतर प्रशिक्षण देना जरूरी है कि वे कौन से पदार्थ ले सकते हैं और कौन से नहीं.

रिपोर्टः एजेंसियां/उभ

संपादनः ए कुमार

DW.COM

WWW-Links