1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

'डॉ. डेथ जयंत पटेल बेकार सर्जन'

हत्या के मामले में आरोपी भारतीय डॉक्टर जयंत पटेल को एक बेकार सर्जन बताते हुए एक आस्ट्रेलियाई अभियोक्ता ने कहा है कि उनमें बड़े ऑपरेशन करने की योग्यता नहीं थी.

default

डा. डेथ के नाम से जाने वाले डाक्टर जयंत पटेल पर आरोप है कि उनकी लापरवाही की वजह से तीन रोगियों की मौत हो चुकी है, जबकि अन्य कई रोगियों को गंभीर नुकसान पहुंचे हैं. उनके ख़िलाफ़ मुकदमे में ऑस्ट्रेलिया के सरकारी अभियोक्ता मार्टिन रॉस ने कहा कि पटेल की ग़लतियों में ऑपरेशन का वक्त तय करने के फ़ैसले व उसके बाद की तीमारदारी भी शामिल है. उन्होंने कहा कि जूरी के सामने वे साबित करेंगे कि आरोपी एक बेकार सर्जन थे. उन्होंने कहा कि ऑपरेशन का मतलब सिर्फ़ ऑपरेशन नहीं होता है, बल्कि उसके बाद व पहले रोगी की देखभाल भी उसमें शामिल है. अगर आप इसके काबिल नहीं हैं, तो आपको रोगियों की चीड़फ़ाड़ का हक़ नहीं है. उन्होंने ध्यान दिलाया कि सन 2005 में बुंडाबैर्ग में डा. पटेल ने एक नर्स से कहा था कि लोगों को इसका आभारी होना चाहिए कि उन्हें उनकी तरह का एक सर्जन मिला है, जो साथ ही अस्पताल के लिए इतना धन ला सका है. इससे पता चल जाता है कि वे कितने घमंडी हैं. अपने कार्यकाल के दौरान डा. पटेल का हमेशा यही रुख़ रहा है-- अभियोजन पक्ष का कहना था.

सन 2003 से 2005 तक जयंत पटेल बुंडाबैर्ग बेस अस्पताल में सर्जरी विभाग के प्रधान थे. उस दौरान ऑपरेशन के बाद तीन रोगियों, मैर्विन मोरिस, गेरार्डुस केंप्स और जेम्स फ़िलिप्स की मौत हो गई थी. अब उन पर इंसानों की मौत के लिए ज़िम्मेदार होने का आरोप लगाया गया है. डा. पटेल ने निर्दोष होने का दावा किया है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/उभ

संपादन: राम यादव

संबंधित सामग्री