1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

डॉर्टमुंड चैंपियंस के फाइनल में

रियाल मैड्रिड को हराकर जर्मन क्लब बोरुसिया डॉर्टमुंड चैंपियंस लीग के फाइनल में पहुंच गया है. मैड्रिड में सेमीफाइनल के सेकेंड लेग में रियाल 2-0 से जीता लेकिन गोल अंतर की वजह से आखिरी स्कोर डॉर्टमुंड के पक्ष में 4-3 रहा.

फाइनल में पहुंचने वाली दूसरी टीम का फैसला बुधवार रात होगा. जर्मन क्लब बायर्न म्यूनिख को बार्सिलोना से भिड़ना है. डॉर्टमुंड के कोच युर्गेन क्लॉप ने रियाल मैड्रिड को टूर्नामेंट से बाहर करने के बाद कहा कि उनका क्लब कमजोर दावेदार की अपनी हैसियत का मजा ले रहा है और इस बात को साबित करने के लिए कटिबद्ध है कि वह यूरोप की सर्वश्रेष्ट टीमों में शामिल है.

पिछले दो सीजन में जर्मन चैंपियन रहने वाली टीम ने मंगलवार को मैड्रिड में हुए दूसरे लेग के मैच में 83 मिनट तक पहले मैच की 4-1 की बढ़त बरकरार रखी. उसके बाद करीम बेंजेमा और सेर्गियो रामोस ने मिनटों में दो गोल कर रियाल और उसके समर्थकों की उम्मीदें जगा दी. बाकी के मिनटों में अगर रियाल एक और गोल कर देता तो वह फाइनल में पहुंच सकता था, लेकिन डॉर्टमुंड के खिलाड़ियों ने इस गोल को बचाने के लिए जी जान लगा दिया.

सेमी फाइनल में पहुंची चार टीमों में सबसे कमजोर मानी जाने वाली डॉर्टमुंड की टीम ने रियाल को 4-3 के स्कोर पर रोक दिया और 25 मई को लंदन के वेंबली में होने वाले फाइनल का टिकट पक्का कर लिया. क्लॉप ने इस जीत के बाद मजाक करते हुए कहा, "मैं पहले कभी वेंबली नहीं गया हूं, हालांकि मैंने कई बार विंबलडन देखा है." उन्होंने कहा, "यह हमारे जीवन के महान क्षणों में एक होगा. मैं नहीं जानता कि हमारा प्रतिद्वंद्वी कौन होगा, लेकिन हम फेवरिट नहीं हैं." डॉर्टमुंड के कोच ने जोर देकर कहा कि वेंबली में हर कोई देख पाएगा कि हम फाइनल में पहुंचकर संतुष्ट नहीं हैं, हम कप जीतना चाहते हैं.

फोटो कोड 923

फोटो कोड 923

रियाल ने प्रतिष्ठित चैंपियंस ट्रॉफी 9 बार जीती है जबकि बार्सिलोना और बायर्न म्यूनिख ने 4-4 बार इस कप पर कब्जा किया है. इसके विपरीत डॉर्टमुंड सिर्फ एक बार 1997 में चैंपियंस ट्रॉफी को घर ले जा पाया है. लेकिन मंगलवार को पुराने रिकॉर्ड किसी काम नहीं आए. करो या मरो वाले मैच में रियाल ने आक्रमक शुरुआत की और डॉर्टमुंड को दबाव में डालने की कोशिश की. रियाल के ने पहले बीस मिनट में क्लीयर गोल के तीन मौके गंवाए. लेकिन बीस मिनट के बाद डॉर्टमुंड ने खेल को अपने नियंत्रण में लेना शुरू कर दिया. पहले हाफ में कोई गोल न होने के बाद साफ हो गया था कि रियाल डॉर्टमुंड और घड़ी के खिलाफ खेल रहा है. डॉर्टमुंड की डी के पास पास न बना पा रहे रियाल के लिए आखिरी के 45 मिनटों में तीन गोल करने की उम्मीद बेमानी थी. हालांकि आखिरी के दस मिनट में रियाल ने खेल के काबू करने की कोशिश की. दस मिनट में दो गोल किए लेकिन जर्मन टीम ने खतरा इससे आगे नहीं बढ़ने दिया. रियाल के दूसरा गोल करने वाले रामोस ने कहा, "यह शर्मनाक है. डॉर्टमुंड में हमें आज रात खेलना चाहिए था."

रियाल के कोच मूरिन्यो के नेतृत्व में रियाल लगातार तीन बार चैंपियंस लीग के सेमी फाइनल की बाधा पार नहीं कर पाया है. मैच के बाद उन्होंने एक बार फिर संकेत दिया कि यह सीजन उनके लिए स्पेन में आखिरी सीजन होगा. यह पूछे जाने पर कि क्या वे अगले साल भी क्लब के साथ रहेंगे, पुर्तगाली कोच ने कहा, "शायद नहीं." उन्होंने संकेत दिया कि वे इंग्लैंड वापस लौटना चाहते हैं.

फाइनल में डॉटमुंड का मुकाबला जर्मन क्लब म्यूनिख से संभव लगता है. म्यूनिख ने पहले लेग में बार्लिसोना को 4-0 से हराया है और बार्सिलोना को फाइनल में पहुंचने के लिए बुद्धवार को रिटर्न लेग में म्यूनिख को 5-0 से हराना होगा.

एमजे/ओएसजे (रॉयटर्स, एएफपी)

DW.COM

WWW-Links

संबंधित सामग्री